छावनी में तब्दील हुई अयोध्या, BJP सांसद योगी आदित्यनाथ गिरफ्तार

  • छावनी में तब्दील हुई अयोध्या, BJP सांसद योगी आदित्यनाथ गिरफ्तार
You Are HereNational
Friday, October 18, 2013-2:14 PM

लखनऊ/अयोध्या: उत्तर प्रदेश में विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) की शुक्रवार से होने वाली संकल्प सभा को लेकर राज्य सरकार और विहिप आमने-सामने हैं। पुलिस रातभर जहां विहिप व अन्य हिन्दू संगठनों के नेताओं को गिरफ्तार करती रही, वहीं विहिप अपने निर्णय पर अडिग है। इस बीच अयोध्या को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। फैजाबाद की सीमा भी सील कर दी गई है। चार पहिया वाहनों को भी जाने की छूट नहीं है। फैजाबाद जिले की सीमा पर 13 और उत्तर प्रदेश की सीमा पर 31 बैरियर बनाए गए हैं। 

वहीं,  राम मंदिर निर्माण के लिए विश्व हिन्दू परिषद की प्रतिबंधित ‘संकल्प सभा’ में भाग लेने अयोध्या जा रहे हिन्दू युवावाहिनी के संस्थापक और गोरखपुर से भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ को उनके समर्थकों के साथ आज गिरफ्तार कर लिया गया।  अपर जिला मजिस्ट्रेट अंजनी कुमार सिंह ने संवाददाताओं को बताया कि योगी आदित्यनाथ नयी दिल्ली से गोरखपुर जाने वाली वैशाली सुपर फास्ट एक्सप्रेस से आज सुबह गोण्डा रेलवे स्टेशन पहुंचे और वहां से पूर्व सांसद सत्यदेव सिंह एवं विहिप से जुड़े कई नेताओं के साथ अयोध्या के लिए रवाना हुए।   सिंह ने बताया कि योगी आदित्यनाथ के कार्यक्रम की जानकारी होते ही उन्हें कोतवाली नगर थाना क्षेत्र में उनके साथियों के साथ धारा 144 के उल्लंघन के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया।

रातभर चली छापेमारी में विहिप के सैकड़ों कार्यकर्ताओं को अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार किया जा चुका है। पूर्व मंत्री लल्लू सिंह, विहिप के प्रांतीय प्रवक्ता शरद शर्मा सहित भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ, विहिप व राममंदिर न्यास से जुड़े कई पदाधिकारियों को कल ही गिरफ्तार कर लिया गया था।

पुलिस ने लखनऊ, मुगलसराय और अम्बेडकरनगर सहित कई रेलवे स्टेशनों से सैकड़ों विहिप कार्यकतार्ओं को गिरफ्तार किया है। मंदिर आंदोलन से जुड़े महंत नृत्यगोपालदास, पूर्व सांसद डॉ. रामविलास वेदांती, महंत सियाकिशोरी शरण, महंत सुरेश दास, वृजमोहन दास, मनमोहन दास, अभिषेक मिश्रा को घर में ही नजरबंद कर दिया है।

प्रमुख सचिव गृह अनिल कुमार गुप्ता और पुलिस महानिदेशक देवराज नागर ने भी कल अयोध्या पहुंचकर अधिकारियों को हालातों से निपटने की सख्त हिदायत दी थी। शुक्रवार को शरद पूर्णिमा का स्नान पर्व होने की वजह से प्रशासन का कहना है कि श्रद्धालुओं को नहीं रोका जाएगा। संकल्प सभा के मद्देनजर होने वाली गिरफ्तारियों के लिए प्रशासन ने जिले में 11 जगहों पर अस्थाई जेलें बनाई हैं।

उल्लेखनीय है कि दो माह के भीतर विहिप ने तीसरे कार्यक्रम का ऐलान कर राज्य सरकार के लिए परेशानी खड़ी कर दी है। 25 अगस्त से 84 कोसी परिक्रमा का ऐलान कर विहिप ने सरकार को चुनौती दी थी। बाद में विहिप ने पंचकोसी परिक्रमा की घोषणा कर सरकार की मुश्किलें बढ़ाई थीं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You