गहलोत बताएं क्या नकली दवाएं जहर नहीं होतीं: राजे

  • गहलोत बताएं क्या नकली दवाएं जहर नहीं होतीं: राजे
You Are HereNational
Friday, October 18, 2013-12:39 PM

जयपुर: भाजपा की प्रदेशाध्यक्ष वसुंधरा राजे ने कहा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने खुद स्वीकार किया है कि उनके गृह जिले जोधपुर में नकली दवाओं का कारोबार है। राजे ने कहा कि सरकारी रिकॉर्ड उठाकर देख लें राज्य में आए दिन नि:शुल्क दवाओं के सैम्पल जांच में फेल हो रहे हैं। सुराज संकल्प यात्रा के दौरान उदयपुरवाटी के सरकारी अस्पताल में तो उन्हें अधिकारिक तौर पर जानकारी मिली कि एंटीबायटिक इंजेक्शन में वहां कांच के टुकड़े निकले। क्या ऐसे इंजेक्शन जानलेवा नहीं है। प्रदेशभर में मुफ्त दवा के नाम पर अधिकतर दवाएं बांटी जा रही है। अब मुख्यमंत्री बताए कि ये दवाएं जहर नहीं तो और क्या है।

 

उन्होंने कहा कि वह सुराज संकल्प यात्रा में जहां भी गई वहां अधिकांश स्थानों पर डॉक्टर नहीं थे। महिला चिकित्सक भी नहीं थी। जब अस्पतालों में डॉक्टर ही नहीं है तो मुख्यमंत्री मुफ्त ईलाज की बात किस मुंह से कर रहे हैं। पूरे प्रदेश की जनता जानती है कि मुख्यमंत्री ने अपना पूरा कार्यकाल किस तरह झूठ बोल बोल कर निकाला है। इसलिए उनकी बातों को कोई गंभीरता से नहीं लेता1 अ‘छा तो यह होता कि वह बहुराष्ट्रीय कंपनियों की सांठगांठ का प्रमाण देकर हम पर आरोप लगाते।

 

पूरी दुनिया जानती है कि विदेशी कपंनियों से सांठ गांठ कांग्रेस ने की है। भाजपा ने तो मल्टी नेशनल कंपनियों के भारत में प्रवेश के खिलाफ कई बार आंदोलन किए हैं। राजे ने कहा कि मुख्यमंत्री ने पूरे पांच साल अमर्यादित, स्तरहीन और हल्की बयानबाजी तथा झूठे आरोप लगाने में ही निकाल दिए लेकिन वह अपने पूरे कार्यकाल में एक भी आरोप सिद्ध नहीं कर पाए अब हताशा में फिर वहीं आरोप दोहरा रहे हैं जो उन्होंने पांच साल तक हर रोज लगाए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You