प्रधानमंत्री कल रूस और चीन की यात्रा पर होंगे रवाना

  • प्रधानमंत्री कल रूस और चीन की यात्रा पर होंगे रवाना
You Are HereNational
Saturday, October 19, 2013-3:01 PM

नर्इ दिल्ली: प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह कल रूस और चीन की पांच दिवसीय यात्रा पर जा रहे हैं। इन यात्राओं के दौरान रूस के साथ असैन्य परमाणु दायित्व से उठे मुद्दों का समाधान करने का प्रयास होगा जो रूस से कुडनकुलम परियोजना के लिए दो नए रिएक्टर पाने में बाधा पैदा कर रहा है।

इस यात्रा में चीन के साथ सीमा पर दोनों ओर की सेनाओं के आमने-सामने आ जाने की अक्सर उत्पन्न होने वाली स्थितियों से बचने का भी हल खोजा जाएगा। रूस और चीन दोनों के साथ उक्त मुद्दों पर किसी समझौते तक पंहुचने की उम्मीद कर रहे अधिकारियों ने कहा कि वे आपसी स्वीकार्य हल तक पंहुचने के लिए काम कर रहे हैं। उनका कहना है कि प्रधानमंत्री की मास्को और बीजिंग यात्रा के दौरान इन दोनों मुद्दों पर करार पर हस्ताक्षर हो सकते हैं।

सिंह सोमवार को मास्को में रूस के राष्ट्रपति व्लादमीर पुतिन के साथ 14 वीं वार्षिक शिखर बैठक में मिलेंगे। उनकी मास्को में यह ऐसी पांचवी बैठक होगी।
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि भारत के परमाणु कानून की परमाणु दायित्व धारा पर रूस की चिंताओं को दूर करने के लिए एक प्रस्ताव तैयार किया गया है। इसमें दुर्घटना की स्थिति में संभावित नुकसान पर बीमा लेने के मानकों की रूपरेखा तैयार की गई है।

इनमें स्पष्ट किया गया है कि उपकरणों के विदेशी और भारतीय दोनों आपूर्तिकर्ताओं पर दायित्व की मात्रा असीमित नहीं होगी। रूस कुडनकुलम परमाणु बिजली परियोजना की प्रस्तावित 3 और 4 इकाइयों पर परमाणु दायित्व धारा लागू किए जाने का विरोध कर रहा है। उसका कहना है कि इस मूल परियोजना को अंतर-सरकार समझौते के तहत सोचा गया था। सूत्रों को उम्मीद है कि प्रधानमंत्री की रूस यात्रा के दौरान कुडनकुलम परमाणु बिजली परियोजना की प्रस्तावित & और 4 इकाइयों के लिए समझौता हो जाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You