खुदाई के तरीके से नाराज शोभन सरकार ने छोड़ा आश्रम

  • खुदाई के तरीके से नाराज शोभन सरकार ने छोड़ा आश्रम
You Are HereNational
Sunday, October 20, 2013-9:30 AM

लखनऊ/उन्नाव: उन्नाव के डौंडिया खेड़ा में सोने की खोज के लिए खुदाई का काम दूसरे दिन भी भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण  और भारतीय भूगर्भीय सर्वेक्षण के विशेषज्ञों की निगरानी में जारी रहा।

एस.डी.एम. विजय शंकर दुबे ने बताया कि शनिवार 10 बजे से खुदाई का काम दोबारा शुरू हुआ है। इस बीच, ऐसी खबर आ रही है कि खजाने का ख्वाब देखने वाले संत शोभन सरकार ए.एस.आई. के खुदाई के तरीके से नाराज हैं। बताया जा रहा है कि वह नाराज होकर उन्नाव स्थित अपने आश्रम से 100 किलोमीटर दूर कानपुर के एक आश्रम में चले गए हैं। शोभन सरकार ने दावा किया है कि ए.एस.आई. की टीम खजाना नहीं खोज पाएगी। उसे महीनों लग जाएंगे। यदि खजाना जल्दी प्राप्त करना है तो सरकार को सेना लगानी चाहिए।  

सेनापति के वारिस ने भी मांगा हिस्सा

खजाने की खबर लगते ही तमाम लोग ऐसे भी सक्रिय हो गए हैं जो 156 साल पहले के बड़े जमींदार राजा राव रामबक्श सिंह के दरबारियों के गांवों के रहने वाले हैं। हरपालपुर के अभय प्रताप सिंह का दावा है कि वह राजा की 8वीं पीढ़ी के वारिस हैं और उन्हें भी सोने में हिस्सा मिलना चाहिए।

स्वर्ण भंडार वाले मन्दिर में चोरों ने की खुदाई
फतेहपुर:आदमपुर गांव में जिस मन्दिर में सोने का भंडार होने का दावा कानपुर के एक सन्त ने किया था, वहां कल रात  चोरों ने पुजारी को तमंचे की नोक से आतंकित करके जमीन की खुदाई की और चबूतरे को तहस-नहस कर दिया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You