नाराज होकर गए गोयल

  • नाराज होकर गए गोयल
You Are HereNcr
Monday, October 21, 2013-1:51 PM


नई दिल्ली, (अशोक शर्मा) : दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा में सी.एम. पद प्रत्याशी की घोषणा को लेकर चल रहा अंदरुनी झगड़ा रविवार को खुलकर सामने आ गया। पार्टी की चुनाव समिति की बैठक से प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष विजय गोयल उठकर चले गए। फिलहाल पार्टी की ओर से सी.एम. पद प्रत्याशी की घोषणा को टाल दिया गया है। प्राप्त संकेत के अनुसार पार्टी द्वारा सी.एम. पद प्रत्याशी के नाम की घोषणा अगले तीन-चार दिनों के भीतर कर दी जाएगी।

बताया जाता है कि बैठक में गोयल ने कहा यदि मुख्यमंत्री प्रत्याशी के लिए डॉ. हर्षवर्धन के नाम की घोषणा की गई, तो वह पार्टी का कामकाज छोड़ सकते हैं। उन्होंने इस बाबत पार्टी के वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी से भी बात की है। इसे लेकर पार्टी के अशोक रोड स्थित मुख्यालय पर कार्यकत्र्ताओं ने जमकर नारेबाजी भी थी। कुछ कार्यकत्र्ता गोयल के समर्थन में जबकि दूसरी ओर डॉ. हर्षवर्धन के समर्थन में नारेबाजी लगाते दिखे। 

खास बात यह है कि भाजपा की चुनाव समिति की हुई इस बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ, पी.एम. पद के प्रत्याशी नरेन्द्र मोदी, राष्ट्रीय महामंत्री जगत प्रसाद नड्ड, राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज, विजय गोयल के अलावा डॉ. हर्षवर्धन, विजेन्द्र गुप्ता और आरती मेहरा भी शामिल थे। पार्टी द्वारा अधिकृत रूप से तो अभी कोई घोषणा नहीं की गई है, लेकिन गोयल और डॉ. हर्षवर्धन ने कुछ संकेत जरूर दे दिया गया है। सी.एम. पद प्रत्याशी की दौड़ में अब डॉ. हर्षवर्धन को नम्बर वन माना जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि पार्टी के वरिष्ठ नेता श्री अरुण जेटली के स्वदेश लौटने पर अगले तीन-चार दिनों में संसदीय बोर्ड की बैठक होगी और उसके बाद इसकी घोषणा कर दी जाएगी। यह भी पता चला है कि गोयल और डॉ. हर्षवर्धन को इसका संकेत भी दे दिया गया है, तभी प्रदेश अध्यक्ष बैठक से उठकर चले गए। उस समय उनके चेहरे पर बागी तेवर साफ झलक रहे थे।

बाद में बातचीत के दौरान गोयल ने कहा कि उन्हें पार्टी के सामने शक्ति दिखाने की कोई जरूरत नहीं है। गत 8 माह के दौरान उन्होंने जो काम किया है, वह सभी जानते हैं। साथ ही उन्होंने यह भी स्वीकारा कि सी.एम. पद प्रत्याशी की दौड़ में वह अकेले नहीं हैं। बैठक से बाहर निकलते समय उनके चेहरे पर मायूसी दिखाई दे रही थी। जब उनसे उठकर आने का कारण पूछा गया, तो गोयल का कहना था कि  वह बैठक में शामिल होने के लिए नहीं बल्कि नरेन्द्र मोदी से मिलने आए थे। साथ ही यह भी कहा कि उन्होंने पार्टी का कामकाज छोडऩे की कोई धमकी नहीं दी है और पार्टी के सी.एम. पद प्रत्याशी का फैसला चुनाव समिति करेगी।

बैठक सम्पन्न होने के बाद जब डॉ. हर्षवर्धन बाहर निकले तो उनके  चेहरे पर मुस्कराहट साफ दिखाई दे रही थी। यह देख काफी कार्यकत्र्ताओं ने जिंदाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए, जिन्हें डॉ. हर्षवर्धन ने हाथ से संकेत कर नारेबाजी करने से मना किया। उन्होंने बैठक के बारे में कुछ भी बताने से साफ मना कर दिया। याद रहे कि 3 दिन पहले भी इसी मुद्दे को लेकर गोयल ने पार्टी के दिल्ली प्रभारी नितिन गडकरी से मुकालात की थी। बाद में उन्होंने इसकी जानकारी एक संवाददाता सम्मेलन में दी थी, लेकिन उसके बाद एक कार्यक्रम में बातचीत के दौरान श्री गडकरी ने बताया कि पार्टी में सी.एम. पद प्रत्याशी के चयन को लेकर किसी प्रकार का झगड़ा नहीं है, लेकिन पार्टी के मुख्यालय के बाहर यह झगड़ा आज खुलकर सामने आ गया।

Edited by:Jeta

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You