लालू प्रसाद के कारण जेल अधिकारियों ने मजिस्ट्रेट की तैनाती की मांग की

  • लालू प्रसाद के कारण जेल अधिकारियों ने मजिस्ट्रेट की तैनाती की मांग की
You Are HereNational
Monday, October 21, 2013-5:09 PM

रांची: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और चारा घोटाले में सजा पाने के बाद यहां बिरसा मुंडा जेल में बंद राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव से मिलने आने वाले लोगों से परेशान और उनकी सुरक्षा को लेकर चिंतित जेल प्रशासन ने जेल के द्वार पर एक मजिस्ट्रेट की तैनाती की मांग की है। जेल अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि जिला प्रशासन से कारागार के द्वार पर एक मजिस्ट्रेट की तैनाती का अनुरोध किया है जिससे जेल की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों का ध्यान लालू यादव से मिलने आने वाले लोगों में न बंटे।

लालू यादव से मिलने जेल पहुंचने वाले लोगों को अनुमति न मिलने पर सुरक्षाकर्मियों से ही उलझ जाते हैं। हाल में लालू यादव की जेल में सुरक्षा को लेकर प्रशासन द्वारा जारी एलर्ट के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इसमें कोई खास बात नहीं थी। यह एक आम एलर्ट था जो सामान्य प्रक्रिया के तहत जारी किया जाता है। उन्होंने बताया कि जब से लालू यादव और चारा घोटाले से जुड़े अनेक वीआईपी बंदी अदालत से सजा पाने के बाद जेल में बंद हुए हैं तभी से उनकी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम जेल प्रशासन ने किया है। लिहाजा उनकी सुरक्षा को लेकर चिंता की कोई बात नहीं है।

उन्होंने कहा कि जेल में सुबह आठ से साढ़े बारह तक और फिर शाम को तीन से चार के बीच कोई भी मुलाकाती जेल में मुलाकात कर सकता है। लेकिन लालू यादव लोगों से सिर्फ शाम के समय ही मिलते हैं। वह सुबह अपने प्रकोष्ठ से बाहर नहीं आते हैं। इस बीच, 17 अक्तूबर को लालू यादव और उनके अलावा राजद के पूर्व विधायक आर के राणा की ओर से झारखंड उच्च न्यायालय में इस मामले में अपील दाखिल की गई थी जिस पर न्यायालय ने शुक्रवार को सुनवाई प्रारंभ की थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You