जम्मू: साम्बा में गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे

  • जम्मू: साम्बा में गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे
You Are HereNational
Tuesday, October 22, 2013-1:13 PM

साम्बा: गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने आज कहा कि केंद्र जम्मू कश्मीर में इस वर्ष घुसपैठ के मामलों में वृद्धि से चिंतित है। साम्बा में जवानों को संबोधित करते हुए शिंदे ने कहा, ‘पिछले साल के रिकार्ड को लेकर हम चिंतित नहीं हैं। हालांकि इस वर्ष घुसपैठ की संख्या में वृद्धि से हम चिंतित हैं। मैं घुसपैठ की घटनाओं में वृद्धि के कारणों पर अपने अधिकारियों के साथ चर्चा कर रहा हूं।’ गृह मंत्री अंतरराष्ट्रीय सीमा पर नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम के उल्लंघन के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर जम्मू क्षेत्र के दौरे पर आए हैं।

इस वर्ष अब तक संघर्षविराम के उल्लंघन के 136 मामले दर्ज किये गए हैं। पाकिस्तानी रेंजरों ने कल 10 सीमा चौकियों पर गोलीबारी की जिसमें दो लोग घायल हो गए। संघर्षविराम के उल्लंघन के कारण केंद्रीय गृह मंत्री अग्रिम चौकियों तक नहीं जा सकेंगे और वह इस क्षेत्र में साम्बा जिले में बीएसएफ जवानों के साथ बैठक तक ही अपने को सीमित रखेंगे। शिंदे ने केंद्रीय सशस्त्र पुलिय बलों (सीएपीएफ) को सरकार के पूर्ण समर्थन की प्रतिबद्धता व्यक्त की और कहा कि उन्हें रक्षा सेवाओं में अपने समकक्षों के समान ही पूर्व सैनिकों का दर्जा दिया गया है।

उन्होंने कहा, ‘जब मैंने प्रधानमंत्री से कहा कि सीएपीएफ को प्रतिरक्षा बलों के पूर्व सैनिकों के समान दर्जा नहीं दिया गया है, तब उन्होंने मुझे कैबिनेट के समक्ष इस बारे में नोट पेश करने को कहा। आप सभी लोगों को यह जानकर खुशी होगी कि सीएपीएफ को पूर्व सैनिकों का दर्जा दिया गया है।’ उन्होंने यह भी कहा कि मंत्रालय सीएपीएफ कर्मियों को कुछ और सहुलियत प्रदान करने पर विचार कर रहा है। गृह मंत्री ने सशस्त्र बलों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि सरकार को इस बात का पता है कि वे कितनी कठिन परिस्थितियों में देश की सुरक्षा करते हैं और वह उनके विषयों का निपटारा करने के लिए कदम उठाएगी। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You