आधार कार्ड जारी करने को संसद की मंजूरी नहीं मिली है: भाजपा

  • आधार कार्ड जारी करने को संसद की मंजूरी नहीं मिली है: भाजपा
You Are HereNational
Tuesday, October 22, 2013-3:08 PM

नई दिल्ली: हाल में विवादों का सामना कर रहे यूआईडीएआई पर आज भाजपा ने प्रहार करते हुए कहा कि नागरिकों को जारी किए जा रहे आधार कार्ड को संसद की मंजूरी नही मिली है और संसद की स्थायी समिति इस योजना को नामंजूर कर चुकी है।

भाजपा की उपाध्यक्ष स्मृति ईरानी ने यहां एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘वास्तविकता यह है कि इस विशेष कार्ड को जारी करने की अनुमति देने वाले भारतीय राष्ट्रीय पहचान प्राधिकरण विधेयक, 2010 को वित्त संबंधी संसद की स्थायी समिति अस्वीकार कर चुकी है।

उन्होंने कहा, आश्चर्य की बात यह है कि जिस विशिष्ट कार्ड को जारी करने के विचार को संसद ने अनुमति नहीं दी वह बायो-मेट्रिक आंकड़े एकत्र कर रहा है जोकि निजता के संवैधानिक अधिकार का उल्लंघन है।

आधार कार्ड योजना का विरोध करने वाली भाजपा का कहना है कि जिनके पास प्रामाणिक दस्तावेज या नागरिकता नहीं है, उन्हें आधार कार्ड जारी नहीं किए जाने चाहिए। उसके अनुसार कई अवैध प्रवासियों को आधार कार्ड जारी हो रहे हैं।

ईरानी ने कहा कि संप्रग सरकार अपनी महत्वकांक्षी योजनाओं में आधार कार्ड को गिनाती है जबकि हकीकत यह है कि इसे संसद की मंजूरी नहीं है और उच्चतम न्यायालय में भी इस पर विवेचना हो रही है और शीर्ष अदालत के फैसले का सबको इंतजार है।

इसी कार्यक्रम में ईरानी से पहले यूआईडीएआई के अध्यक्ष नंदन नीलेकणि ने कहा कि प्राधिकरण अगले कुछ महीनों में लक्ष्य से पहले ही 60 करोड़ आधार नंबर जारी कर देगा। उन्होंने बताया कि अभी तक 46 करोड़ आधार नंबर जारी हो चुके हैं। 2014 तक 60 करोड़ आधार नंबर जारी करने का लक्ष्य रखा गया था। लेकिन इसे समय से पहले ही पूरा कर लिया जाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You