निर्वाचन अधिकारियों की डमी प्रत्याशियों पर रहेगी पैनी नजर

  • निर्वाचन अधिकारियों की डमी प्रत्याशियों पर रहेगी पैनी नजर
You Are HereNational
Tuesday, October 22, 2013-4:35 PM

जयपुर: राजस्थान में मुख्य निर्वाचन अधिकारी अशोक जैन ने आगामी एक दिसंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान डमी प्रत्याशियों पर पैनी नजर रखने के लिए सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश जारी किए है। जैन ने आज बताया कि अक्सर चुनाव में राजनीतिक दल एवं अभ्यर्थी अपने खर्चे छिपाने और दूसरे प्रत्याशी के नाम पर अधिकृत सुविधाओं के उपभोग के लिए डमी प्रत्याशियों को मैदान में उतार देते है। उन्होंने ऐसे में किसी भी डमी प्रत्याशी की सूचना प्राप्त होने पर जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा उन पर कडी नजर रखते हुए आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए है।

उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग के निर्देशों के अनुसार जब भी डमी प्रत्याशी की सूचना प्राप्त होने अथवा किसी अभ्यर्थी के स्वीकृत वाहन में किसी अन्य अभ्यर्थी की चुनाव सामग्री मिले तो उसकी वीडियों रिकॉर्डिंग की जाए। साक्षियों के बयान और साक्ष्य तैयार कर अभ्यार्थियों को नोटिस दिए जाएं। यदि यह साबित हो जाए कि डमी प्रत्याशी के वाहन का उपयोग किसी अन्य अभ्यर्थी द्वारा किया जा रहा है तो उस डमी प्रत्याशी के वाहनों की स्वीकृति पर पुनॢवचार कर वापस ले लिया जाए।

जैन ने निर्देश दिए है कि जिसके पक्ष में डमी प्रत्याशी समर्थन कर रहा है तो उसे भी नोटिस दिया जाए। प्रत्याशियों को दिए गए नोटिसों की कार्यवाही को भी प्रचारित किया जाए ताकि इनका उपयोग भ्रष्ट आचरण के बिंदु पर निर्वाचन याचिका में किया जा सके।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने निर्देश दिए है कि इसी तरह डमी प्रत्याशी द्वारा मतदान अभिकर्ताओं की नियुक्ति की जांच भी की जाए1 जिस मतदान केन्द्रों में माइक्रो ऑब्जर्वर और वीडियों कैमरा लगाए जाते है ट्रेकिंग में उनका उपयोग किया जाए। उन्होंने जिला निर्वाचन अधिकारी एवं रिटॄनग अधिकारी द्वारा राजनीतिक दलों तथा अभ्यॢथयों को इस संबंध में जारी निर्देशों से अवगत कराने के भी निर्देश दिए है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You