जब सोनिया से नाराज हुए अखिलेश!

  • जब सोनिया से नाराज हुए अखिलेश!
You Are HereNational
Wednesday, October 23, 2013-10:38 AM

लखनउ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का नाम लिये बगैर कहा कि रायबरेली में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के लिए मुफ्त जमीन दिये जाने के बावजूद शिलान्यास कार्यक्रम में उन्हे नही बुलाकर राजनीतिक बेईमानी की गई है और ऐसे लोगों से लोकतांत्रिक ढंग से संघर्ष किया जायेगा। करीब दस हजार किमी.की साइकिल यात्रा कर यहां पहुंचे यादव ने समाजवादी पार्टी (सपा) के दो युवाओं रंजीत बच्चन तथा कालिंदी निर्मल शर्मा को सम्मानित करने के बाद पत्रकारों से कहा कि एम्स के लिए मायावती सरकार में खूब प्रयास किया गया लेकिन जमीन नही उपलब्ध कराई गई। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार आते ही मुफ्त जमीन उपलब्ध करा दी गई लेकिन शिलान्यास कार्यक्रम में उन्हें पूछा तक नही गया। यह बडी राजनीतिक बेईमानी है। इस बेईमानी के खिलाफ राजनीतिक ढंग से संघर्ष किया जायेगा।

गौरतलब है कि गत आठ अक्टूबर को गांधी ने अपनी बेटी प्रियंका बाड्रा गांधी के साथ एम्स का शिलान्यास रायबरेली में किया था। उन्होंने कहा कि एम्स ही नही होटल मैनेजमेंट संस्थान खाद्य प्रसंस्करण योजना के लिए राज्य सरकार ने पूरा सहयोग दिया फिर भी उन्हें नही बुलाया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने ऐतिहासिक काम किये हैं। सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत अनाज ढोने वाले ट्रकों का रंग अब केवल हरा रहेगा ताकि अवैध ढंग से सामान बेचने पर उनकी पकड़ हो सके। इस प्रणाली का सामान गोदाम से निकलते ही रजिस्टर्ड उपभोक्ताओं के मोबाइल पर संदेश पहुंच जायेगा कि बिक्री के लिए अनाज या अन्य सामान आ गया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You