भाजपा दिग्गजों की राह का रोड़ा बनेंगे अकाली

  • भाजपा दिग्गजों की राह का रोड़ा बनेंगे अकाली
You Are HereNcr
Thursday, October 24, 2013-12:09 PM

नई दिल्ली, (सुनील पाण्डेय) : शिरोमणि अकाली दल (बादल) की नई रणनीति अगर कामयाब रहती है और अकाली अपनी बात पर अडिग रह जाते हैं तो भाजपा  दिग्गजों की राह मुश्किल हो जाएगी। भाजपा के प्रमुख दिग्गजों डा. हर्षवर्धन, प्रो. जगदीश मुखी, विजय कुमार मल्होत्रा, ओपी बब्बर, हरशरण सिंह बल्ली सहित कई नेताओं की डगर कठिन हो जाएगी। अकाली सीधे तौर पर उनकी राह का रोडा बनने को कदमताल कर रहे हैं। हालांकि, अकाली घोषणा के दूसरे दिन भी अपनी बात पर अडिग हैं,  इससे अंदाजा यही लगाया जा रहा है कि पार्टी हाईकमान का उन्हें पूरा समर्थन है। अन्यथा अब तक बात खारिज कर दी गई होती। 

आज भाजपा ने जिस हर्षवर्धन के नाम का ऐलान मुख्यमंत्री पद के प्रत्याशी के रूप में किया है, उनकी अपनी सीट भी खतरे में पड़ सकती है। पिछले विधानसभा चुनाव में कृष्णानगर विधानसभा सीट से वह इन्हीं अकालियों के समर्थन से महज 2200 वोटों से चुनाव जीते थे। यहां करीब 12 हजार सिख वोटर हैं, पंजाबी अलग से। हर्षवर्धन ही नहीं, सिख बहुल सीट मानी जाती जनकपुरी विधानसभा सीट से प्रो. जगदीश मुखी जीते थे। जनकपुरी में तो करीब 25 प्र्रतिशत सिख वोटर हैं। जबकि, तिलकनगर सीट से ओ पी बब्बर और हरीनगर सीट से हरशरण सिंह बल्ली विजयी हुए थे। इसके अलावा सिख-पंजाबी बहुल सीट मोतीनगर है, जहां से सुभाष सचदेवा विधायक हैं। भाजपा की ये सभी प्रमुख सीटें इस बार खतरे में पड़ सकती हैं। शिरोमणि अकाली दल (बादल) इन्हीं सीटों को टारगेट करके चल रहा है।  इन सभी सीटों के लिए प्रत्याशी भी तय हो चुके हैं। अगर, यही स्थिति बनी रहती है तो अगले सप्ताह सभी सीटों के प्रत्याशियों का ऐलान भी पार्टी कर देगी। 

इसके अलावा साउथ दिल्ली की एक प्रमुख सीट है ग्रेटर कैलाश विधानसभा, जहां से भाजपा नेता विजय कुमार मल्होत्रा विधायक हैं। इस बार शिरोमणि अकाली दल के प्रदेश अध्यक्ष एवं दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के चेयरमैन मंजीत सिंह जीके खुद ताल ठोंक रहे हैं। जीके वहीं से गुरुद्वारा कमेटी के से सदस्य भी हैं। वैसे मल्होत्रा इस बार खुद चुनाव लडऩे के मूड में नहीं थे। अपनी सीट पर अपने बेटे को उतारने की तैयारी में थे, लेकिन बदले राजनीतिक हालात से शायद वह फिर से मैदान में उतर जाएं। हालांकि  भाजपा के कई दिग्गज मसलन पूर्व मेयर आरती मेहरा, विजय जौली, शिखा राय भी इसी सीट से टिकट मांग रहे हैं। उधर अकाली सूत्रों की माने तो मंगलवार को हुई उनकी 16 सीटों पर लडऩे की घोषणा के बाद भाजपा के कई नेता उनके संपर्क में आ गए हैं और उनकी खुशामद भी करने  लगे हैं। 

शिरोमणि अकाली दल (बादल) के प्रदेश अध्यक्ष एवं दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के चेयरमैन मंजीत सिंह जीके ने आज कहा है कि वह अपनी घोषणा पर अडिग हैं, और चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं। जिन 16 सीटों का ऐलान हुआ है, वहां के प्रत्याशियों की लिस्ट तैयार की जा रही है। उम्मीद है कि एक सप्ताह के भीतर नामों का ऐलान कर दिया जाएगा। बकौल मंजीत सिंह, अकाली हाईकमान का उन्हें पूरा समर्थन है।

Edited by:Jeta

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You