‘राहुल का भावनात्मक भाषण कांग्रेस की निराशा को दर्शाता है’

  • ‘राहुल का भावनात्मक भाषण कांग्रेस की निराशा को दर्शाता है’
You Are HereNational
Thursday, October 24, 2013-3:41 PM

हैदराबाद: भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एम वेंकैया नायडू ने आज कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की उनके पिता और दादी की तरह उनकी हत्या किए जाने की आशंका संबंधी टिप्पणी तथा भाजपा पर उनका हमला सत्तारूढ़ पार्टी की निराशा को दर्शाता है।

नायडू ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘ कांग्रेस उपाध्यक्ष का कल चुर में दिया गया भाषण उनकी पार्टी की निराशा को दर्शाता है। वह नरेंद्र मोदी की बढ़ती लोकप्रियता को पचा नहीं पा रहे हैं और इसलिए वे दुष्प्रचार करने की कोशिश कर रहे हैं।’’

उन्होंने कहा कि यह पुरानी बातों के बारे में बात करके लोगों की सहानुभूति हासिल करने की कोशिश है। ऐसी चीजें दिखाती है कि उनके पास देश के सामने मौजूद चुनौतियों का कोई जवाब नहीं है।

नायडू ने कहा, ‘‘यह दिखाता है कि उनके पास अपनी असफलताओं के बारे में स्पष्टीकरण देने के लिए कुछ नहीं है और उनमें राजग, भाजपा और नरेंद्र मोदी की ओर से पेश किए गए विकास के एजेंडे का मुकाबला करने की क्षमता नहीं है। इससे भी अधिक, उनके पास एक मजबूत नेता नहीं है। वे यह कहकर सहानुभूति हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं कि इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की हत्या की गई।’’

राहुल ने कल भाजपा पर अपने राजनीतिक हित साधने के लिए गुस्से और नफरत की राजनीति भड़काने का आरोप लगाया था और वह यह कहते हुए भावनात्मक हो गए थे कि उनकी दादी और पिता की तरह एक दिन उनकी भी हत्या की जा सकती है लेकिन उन्हें इस बात की ‘चिंता’ नहीं है।

नायडू ने कहा, ‘‘ मूल प्रश्न यह है कि यह माहौल किसने पैदा किया, किसने आतंकवाद और कट्टरपंथी तत्वों को बढावा देने वाली विभाजनकारी, साम्प्रदायिक और पृथकतावादी प्रवृत्तियों को जन्म दिया और उनका विकास किया ? निस्संदेह यह कांग्रेस और केवल कांग्रेस है।’’

भाजपा नेता ने कांग्रेस पर राष्ट्र विरोधी ताकतों के खिलाफ नरम रवैया अपनाने और अकालियों को कमजोर करने के लिए भिंडरांवाले को बढावा देने का आरोप लगाया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You