3898 बाईकर के काटे चालान, फिर भी स्टैंट करने वालों के हौसले बुलंद

  • 3898 बाईकर के काटे चालान, फिर भी स्टैंट करने वालों के हौसले बुलंद
You Are HereNational
Thursday, October 24, 2013-4:03 PM

नई दिल्ली : इंडिया गेट व उसके आसपास बाईकर द्वारा किए जाने वाले स्टंट मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय के समक्ष दिल्ली पुलिस ने अपना हलफनामा दायर करते हुए बताया है कि उन्होंने जून से लेकर अब तक 3898 बाईकर के चालान काटे हैं।

मुख्य न्यायाधीश एन.वी.रामना की अध्यक्षता वाली खंडपीठ के समक्ष पुलिस ने बताया कि अब तब बाईकर द्वारा किए जाने वाले हंगामों को लेकर 18 प्राथमिकी दर्ज हो चुकी हैं और 475 बाईक जब्त कर चुके हैं। इतना ही नहीं पुलिस इन बाईकर के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रही है। पुलिस के इस हलफनामे पर याचिकाकर्ता ने अपना जवाब दायर करने के लिए तीन सप्ताह का समय मांगा। जिस पर खंडपीठ ने कहा कि तीस अक्तूबर तक याचिकाकर्ता अपने सुझाव देकर अदालत को बताए कि किस तरह इन घटनाओं को रोका जा सकता है।

इस मामले में हरि किशन दयाल नामक व्यक्ति ने एक जनहित याचिका दायर की है। इस रिटायर्ड प्रोफेसर का कहना है कि दिल्ली में कोई कानून व्यवस्था नहीं है। इन बाइकर के स्टंट के कारण पुरुष व महिला दोनों को परेशानी हो रही है। ऐसे में इन बाईकर के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। हर साल यह बाईकर सड़कों पर स्पीड से बाइक चलाते हैं और स्टैंट करके आम जनता को परेशान करते हैं। कई बार पूर्व में सूचना मिलने के बाद भी पुलिस इनको रोकने का प्रयास नहीं करती है। याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया है कि पुलिस इन बाईकर को स्टैंट करने से रोकने में नाकाम रही है,इसलिए पिछले महीने एक नवयुवक को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।

हर साल बाईकर द्वारा स्टैंट करने की घटनाएं बढ़ती जा रही है। सार्वजनिक स्थानों, सड़कों व सार्वजनिक वाहन अब भी सुरिक्षत नहीं हैं और अपराधी कानून का पालन नहीं कर रहे हैं। याचिकाकर्ता के अनुसार  बाईकर इंडिया गेट,कनाट प्लेस,आईटीओ क्रासिंग,बहादुर शाह जफर मार्ग,प्रगति मैदान,सुंदर नगर,दिल्ली गेट व इनसे जुड़े आसपास के इलाके हैं।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You