राहुल की सुरक्षा में जरूरी कदम उठाएंगे, केंद्र में फिर आएंगेः मनमोहन

  • राहुल की सुरक्षा में जरूरी कदम उठाएंगे, केंद्र में फिर आएंगेः मनमोहन
You Are HereNational
Friday, October 25, 2013-3:14 AM

प्रधानमंत्री के विशेष विमान सेः प्रधानमंत्री मनमोन सिंह ने केंद्र में तीसरी बार संप्रग सरकार की वापसी की भविष्यवाणी करते हुए आज कहा कि पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की जीत सुनिश्चित करने के लिए धुआंधार प्रचार कर रहे पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी की सुरक्षा के लिए एहतियातन सभी जरूरी कदम उठाए जाएंगे।

डा. सिंह ने रूस और चीन की पांच दिवीय यात्रा के बाद स्वदेश लौटते हुए विशेष विमान में पत्रकारों से कहा, मुझे पूरा विश्वास है कि 2014 के आम चुनाव में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन संप्रग सरकार की जीत होगी और आम चुनाव फिर देश की जनता को चौंकाने वाले परिणाम देंगे। यह पूछने पर कि देश में टूजी, राष्ट्रमंडल तथा कोयला ब्लाक आवंटन जैसे घोटाले के साथ ही आसमान छू रही महंगाई और भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की तेजी से बढ रही लोकप्रियता की स्थिति में संप्रग सरकार फिर सत्ता में कैसे आ सकती है उन्होंने कहा कि यह सभी तथाकथित घोटाले संप्रग-एक के दौरान हुए हैं और संप्रग-दो के शासनकाल में ऐसा कुछ नहीं हुआ है।

डा सिंह से जब पूछा गया कि कांछरेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के बारे में सरकार को कोई धमकी मिली है। उन्होंने कहा, देश में घृणा की राजनीति का दौर चल रहा है और इसमें श्री गांधी की सुरक्षा के लिए एहतियातन सभी आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। गौरतलब है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कल राजस्थान के चुरु में एक चुनावी सभा को संबांधित करते हुए कहा था, मेरे परिवार ने घृणा की राजनीति का सामना किया है और इस तरह की राजनीति में मेरी दादी मारी गई, मेरे पिता मारे गए और मैं भी मारा जा सकता हूँ।

आम चुनाव से पहले तेलंगाना राज्य के गठन के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि यह मामला मंत्रिसमूह के समक्ष है और इस बारे में मंत्रिसमूह में ही सभी तथ्यों पर विचार किया जा रहा है। उन्होंने उम्मीद जताई कि इस बारे में मंत्रिसमूह कोई ठोस और उचित निर्णय लेगा। जम्मू कश्मीर में पाकिस्तान की तरफ से बार बार संघर्ष विराम के उल्लंघन के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ हुई बातचीत के बाद भी इस तरह की घटनाएं होना निराशाजनक हैं। उन्होंन कहा कि यह दोनों देशों के हित में नहीं है। उन्होंने कहा कि न्यूयार्क में हम दोनों के बीच सीमा पर शांति बनाए रखने के बारे में बातचीत हुई थी लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You