कोर्ट ने आसाराम की न्‍यायिक हिरासत 1 दिन के लिए बढ़ाई

  • कोर्ट ने आसाराम की न्‍यायिक हिरासत 1 दिन के लिए बढ़ाई
You Are HereRajasthan
Friday, October 25, 2013-12:39 PM

जोधपुर: नाबालिग से दुराचार के आरोप में जेल में बंद आसाराम तथा इस मामले में सह आरोपियों को आज अदालत में पेश किया गया जहां से उन्हें शनिवार तक के लिए न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया था। जोधपुर के पुलिस आयुक्त बीजू जार्ज जोसफ का कहना है कि आसाराम तथा उनके सहयोगियों के खिलाफ अदालत में चार्जशीट पेश करने का काम अंतिम दौर में है और जल्द ही जांच का काम पूरा कर लिया जाएगा।

जिला एवं सत्र न्यायालय (ग्रामीण) के न्यायाधीश मनोज कुमार व्यास के समक्ष आसाराम, उसके मुख्य सेवादार शिवा, रसोईया प्रकाश, छिंदवाड़ा गुरूकुल के संचालक शरतचंद्र, छात्रावास की वार्डन शिल्पी को पेश किया गया। अदालत ने सभी की न्यायिक हिरासत शनिवार तक के लिए बढ़ा दी है। शनिवार को सभी आरोपियों को पुन: अदालत में पेश किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि उत्तरप्रदेश के शाहजहांपुर की एक नाबालिग लड़की ने जोधपुर के पास मणाई आश्रम में गत 15 अगस्त को आसाराम पर उसके साथ दुराचार करने का मामला 19 अगस्त को दिल्ली के कमला मार्केट थाने में दर्ज कराया था। घटना जोधपुर की होने के कारण प्राथमिकी जांच के लिए यहां भेजी गई थी। पुलिस ने 31 अगस्त की रात मध्य प्रदेश के इन्दौर स्थित आश्रम से आसाराम को गिरफ्तार  किया था। अदालत ने गत 2 सितम्बर को आसाराम को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था। सूरत में दो बहनों द्वारा आसाराम और उनके पुत्र नारायण साईं पर बलात्कार करने का मामला दर्ज कराने के बाद गत दिनों गुजरात पुलिस पूछताछ के लिए आसाराम को सूरत ले कर गई थी जहां से बुधवार को उसे यहां लेकर आई है।

इस मामले में अन्य आरोपियों ने पुलिस एवं अदालत के समक्ष आत्मसमर्पण किया था। सभी आरोपी न्यायिक अभिरक्षा में यहां केन्द्रीय कारागार में बंद हैं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You