जीटीबी में हड़ताल, मरीज रहे बेहाल

  • जीटीबी में हड़ताल, मरीज रहे बेहाल
You Are HereNcr
Friday, October 25, 2013-3:56 PM

नई दिल्ली, (निहाल सिंह) : गुरु तेग बहादुर (जी.टी.बी.) के डॉक्टरों के हड़ताल पर चले जाने से वीरवार को अस्पताल का ज्यादातर कामकाज ठप्प रहा। मरीज ईलाज के लिए इधर-उधर भटकते हुए नजर आए तो वहीं, गंभीर मरीज भी काफी देर तक अस्पताल के बहार तड़पते रहे, बाद में मजबूरन दूसरे अस्पतालों की ओर रुख करना पड़ा। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक ने यह दावा किया कि उन्हें अभी तक हड़ताल का कोई नोटिस नहीं मिला है, उन्होंने कहा कि जो भी डॉक्टर काम नहीं करेगा उसके खिलाफ प्रशासनिक कठोर कार्रवाई की जाएगी, वहीं रैजीडैंट डॉक्टर एसोसिएशन ने कहां कि चिकित्सा अधीक्षक को 24 घंटे की हड़ताल का नोटिस जारी कर दिया गया है।

होती रही मरीजों की बेकद्री
अस्पताल में हड़ताल की वजह से मरीजों को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि अस्पताल में आज इतनी कम भीड़ कैसे है। जब अस्पताल की ओ.पी.डी. तक मरीज पहुंचे तो उन्हे डॉक्टरों के गुस्से का सामना करने के बाद पता चला की अस्पताल में हड़ताल चल रही है। इसी तरह बहुत से मरीज इलाज के लिए अस्पताल में यहां-वहां पूछताछ करते रहे।


लेबर पेन से कराहती रही गर्भवती, नहीं मिला इलाज
अस्पताल की हड़ताल की वजह से कहने को आपातकालीन सेवा चालू रही, लेकिन हकीकत में यह भी हड़ताल के चलते लेबर पैन के दौरान पहुंच रही महिलाओं को भी अस्पताल से टरकाया गया। दर्द के बावजूद ईलाज ने मिलने की वजह से कई महिलाएं अस्पताल परिसर में ही दर्द से करहाती रही। जो महिलाए पहले से ही अस्पताल में भर्ती थी तो उन्हें भी नर्सों ने यह कहकर छुट्टी कर दी कि हड़ताल है जिसकी वजह से न तो कोई डिलीवरी होगी और न ही कोई ईलाज होगा।


स्वामी दयानंद अस्पताल में पहुंची मरीजों की भीड़
गुरु तेग बहादुर अस्पताल में हड़ताल के चलते स्वामी दयानंद अस्पताल में मरीजों को दवाब बढ़ गया। जी.टी.बी पहुंच रहे मरीज दयानंद अस्पताल की ओर रुख करते हुए दिखाई दिए जिसकी वजह से स्वामी दयानंद अस्पताल में काफी भीड़ बढ़ गयी। अस्पताल की ओ.पी.डी में लंबी-लबी लाइन के चलते लोगों को काफी देर में इलाज मिल पाया।
 

ये था मामला
वीरवार की रात एक 65 वर्षीय महिला की इलाज के दौरान मौत हो गयी थी जिससे नाराज महिला के परिजनों सी.एम.ओ सहित तीन डॉक्टरों के साथ हाथापाई कर उन्हें घायल कर दिया, परिजनों के द्वारा की गई हाथापाई से नाराज होकर  अस्पताल के  डॉक्टर हड़ताल पर चले गए।
 

डॉक्टर के साथ  हाथापाई करने वाले सभी लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हो चुका है जिसके बाद सभी को जेल भेज दिया गया है, तो हड़ताल पर जाने का कोई सवाल ही नहीं उठता
- डॉ.राजपाल,चिकित्सा अधीक्षक, जी.टी.बी अस्पताल



अस्पताल में डॉक्टरों के साथ मारपीट की घटना की डॉक्टर काफी नाराज थे जिसको लेकर हमने स्वास्थ्य सचिव के सामने अपनी मांगो को रखा, जिस पर उनकी सहमति हो गई है। इसके बाद सभी डॉक्टर मिलकर तय करेंगे की हड़ताल को खत्म करना है, या आगे बढ़ाना है।
- डॉ संदीप तोमर, अध्यक्ष, रैंजीडैंट डॉक्टर एसोसिएशन

Edited by:Jeta

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You