इंटरनेट और सोशल मीडिया को नौजवानों से जुडऩे का जरिया बना रहा है संघ

  • इंटरनेट और सोशल मीडिया को नौजवानों से जुडऩे का जरिया बना रहा है संघ
You Are HereNational
Sunday, October 27, 2013-10:24 AM

नई दिल्ली: युवाओं खासकर शहरी क्षेत्र के नौजवानों को जोडऩे की कवायद के तहत राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ इंटरनेट और सोशल मीडिया को जरिया बना रहा है । संघ ने दावा किया है कि इससे शाखाओं में कालेज छात्रों की सहभागिता में काफी वृद्धि दर्ज की गई है।

संघ की अखिल भारतीय कार्यकारणी की ताजा रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘इस वर्ष संघ की 1000 नई शाखाएं खुली हैं। संगठन में युवाओं एवं तरूणों की सहभागिता काफी बढी है। कालेज जाने वाले काफी छात्र संघ की गतिविधियों में हिस्सा ले रहे हैं।’’

कोच्चि में 25 से 27 अक्तूबर तक चलने वाली संघ की अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक में इस रिपोर्ट पर विस्तार से चर्चा हुई है। संघ की शाखाओं में युवाओं से सहभागिता में कमी के बारे में मीडिया में आई खबरों के बारे में पूछने पर संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य ने एक न्यूज एजेंसी से कहा, ‘‘देश में आरएसएस की 40 हजार शाखाएं हैं । पिछले वर्षो में इसमें लगातार विस्तार हुआ है । हर साल संघ कक्षा वर्ग एवं शाखाओं के माध्यम से 70 हजार तरूण जुड़ रहे हैं । यह तब हो रहा है जब हमने संघ में प्रवेश की प्रक्रिया को कड़ा कर दिया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमारा अनुभव यह कहता है कि संघ से युवाओं का जुड़ाव लगातार बढ़ रहा है। ऐसा देखा गया है कि सुबह शाखा की तुलना में रात्रि शाखा में इनकी संख्या अधिक होती है।’’ उन्होंने कहा कि संघ में प्रवेश का सिद्धांत है लेकिन निष्कासन नहीं होता है। हमारा प्रयास है कि इसमें हर पृष्ठभूमि के लोग जुड़े।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You