Subscribe Now!

हैडली के Email इशारा करते हैं 26-11 के बारे में उसकी भीतरी जानकारी की ओर

  • हैडली के Email इशारा करते हैं 26-11 के बारे में उसकी भीतरी जानकारी की ओर
You Are HereNational
Sunday, October 27, 2013-11:59 AM

नई दिल्ली: साल 2008 के मुंबई हमलों की साजिश रचने के मुख्य आरोपी पाकिस्तानी अमेरिकी आतंकवादी डेविड हैडली ने अपने स्कूल के दिनों के साथियों से कहा था कि यह हमला कश्मीर और अफगानिस्तान में घटे घटनाक्रमों की बदले की कार्रवाई था। यह दावा एक डेनिश पत्रकार की नई किताब में किया गया है।

पत्रकार कारे सोरेनसेन ने कहा कि भारत की आर्थिक राजधानी में लश्कर-ए-तैयबा के सदस्यों द्वारा हमलों के एक हफ्ते बाद कैडेट कॉलेज हसन अब्दाल के पूर्व छात्रों के एक ईमेल समूह पर डाले गये हैडली के पोस्ट में संकेत मिलता है कि उसे हमले की भीतरी जानकारी थी।

सोरेनसेन ने फोन पर पीटीआई से कहा, ‘‘मुंबई हमलों के बाद भेजे ईमेलों में उसने कभी नहीं कहा कि वह सीधे तौर पर शामिल था। लेकिन उसने संकेत दिया था कि उसे वह जानकारी थी जो दूसरों के पास नहीं थी।’’

हमलों के ठीक एक हफ्ते बाद ‘अब्दालियन्स 7479’ समूह को भेजे एक ईमेल में हैडली ने साफ किया था कि मुंबई की घटना को अफगानिस्तान में विदेशी बलों और जम्मू कश्मीर में भारतीय सैनिकों की कथित कार्रवाई के बदले के तौर पर अंजाम दिया गया था।

पाकिस्तान के एक प्रसारणकर्ता और एक अमेरिकी सोशलाइट के बेटे हैडली ने ईमेल में शेखी बघारने के अंदाज में लिखा, ‘‘हमारा मानना है कि मुंबई में लोगों के हताहत होने को अफगानिस्तान में गिरने वाले शक्तिशाली बमों और पिछले 20 साल में कश्मीर में  70,000 से अधिक लोगों के मारे जाने के बदले में किये गये नुकसान के तौर पर देखा जाना चाहिए।’’

सोरेनसेन ने ईमेल समूह पर डाले गये सभी 9,000 मेलों को प्राप्त किया जिनमें 300 से ज्यादा हैडली के लिखे थे।  उन्होंने कहा, ‘‘वह ईमेल में हमेशा शेखी बघारता था, अपने अहंकार को दर्शाता था।’’

हैडली ने हमलों में शामिल अजमल कसाब समेत 10 लश्कर आतंकवादियों के बारे में भी डींग मारते हुए उन्हें ‘बच्चा’ कहा था।  उन्होंने हैडली के हवाले से लिखा, ‘‘जैसा कि आप देख सकते हैं कि 500 से ज्यादा कमांडो को 10 बच्चों को संभालने में दिक्कत आ रही थी।’’

अखबार जिलांडस-पोस्टन में काम करने वाले पत्रकार ने कहा, ‘‘ज्यादातर ईमेल हैडली की जिंदगी और सोच के बारे में जानकारी देते हैं लेकिन इनमें से कुछ में भारत, डेनमार्क तथा अमेरिका के बारे में असभ्य टिप्पणी हैं।’’

सोरेनसेन की किताब ‘हालशग’ में जिलांडस-पोस्टन के खिलाफ हमले की साजिश के लिए उसके दफ्तर की टोह लेने में हैडली की भूमिका पर भी काफी कुछ लिखा गया है। इसके मुताबिक पैगंबर मोहम्मद के ईशनिंदा वाले कार्टून प्रकाशित करने के लिए अखबार के खिलाफ साजिश रची गई थी।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You