कांग्रेस ने मोदी के गहलोत पर राहुल का भरोसा नहीं बयान को बताया बौखलाहट

  • कांग्रेस ने मोदी के गहलोत पर राहुल का भरोसा नहीं बयान को बताया बौखलाहट
You Are HereNational
Sunday, October 27, 2013-4:28 PM

जयपुर: राजस्थान प्रदेश कांग्रेस ने प्रवक्ता डा. अर्चना शर्मा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को भरोसा न रहने संबंधी भाजपा के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी के बयान को बौखलाहट भरा वक्तव्य करार देते हुए कहा है कि हकीकत इसके बिल्कुल विपरीत है।

राजस्थान की प्रदेश इकाई की प्रवक्ता डा. अर्चना शर्मा ने आज यहां कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भाजपा के नेताओं का आपस में
अविश्वास उनका राष्ट्रीय चरित्र है जिसे वे कांग्रेस पर प्रतिबिम्बित कर दिखाने का प्रयास कर रहे है। उन्होंने कहा कि जब मोदी प्रथम बार मुख्यमंत्री बने थे तब तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का उन पर विश्वास नही था यह जगजाहिर है। इसी प्रकार जब लालकृष्ण आडवाणी पीएम इन वेटिंग थे तब मोदी उन पर विश्वास नहीं करते थे।

उन्होंने कहा कि आज जब श्री मोदी पीएम इन वेटिंग है तो आडवाणी उन पर विश्वाास नहीं करते है। डा. शर्मा ने आरोप लगाया कि भाजपा के संगठन की संरचना ही ऊपर से नीचे तक अविश्वास पर आधारित है।

उन्होंने कहा कि राजस्थान में 2008 में जब भाजपा चुनाव हार गई थी तो भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओम माथुर एवं संगठन मंत्री प्रकाशचंद ने इस्तीफा दे दिया था परंतु वसुंधरा राजे टस से मस नहीं हुई और उनसे जबरन प्रदेश भाजपा विधायक दल की नेता पद से भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह को इस्तीफा लेना पड़ा था। इसी प्रकार सालभर बाद बिना शीर्ष नेतृत्व को विश्वास में लिए भाजपा विधायकों की परेड कराकर श्रीमती राजे पुन नेता प्रतिपक्ष बन बैठी परंतु लोकतंत्र के मंदिर विधानसभा में उनका तनिक भी विश्वास नहीं था इसलिए निरंतर उससे विमुख रही एवं अधिकांश समय विदेशों में बिताया। उन्होंने कहा कि जब चुनावी वर्ष आया तो श्रीमती राजे ने संगठन में अविश्वास जताते हुए प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने की धमकी देकर अध्यक्ष का पद हथिया लिया व नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया की तथाकथित यात्रा में अड़चने पैदा कर दी।

अर्चना ने कहा कि इन सब बातों से स्पष्ट होता है कि भाजपा की नीति सिर्फ झूठ बोलकर जनता को मुगालते में रखकर सत्ता प्राप्ति की है। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता भलीभांति जानते है कि गहलोत के कुशल नेतृत्व में संगठन के शीर्ष नेतृत्व के साथ ही आमजन को भी पूरा भरोसा है उन्होंने दावा किया कि इसी भरोसे एवं तालमेल के आधार पर कांग्रेस 2013 में पुन सरकार बनाकर जनता के विश्वास पर खरी उतरेगी तथा सुशासन प्रदान करेगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You