नीतीश पाखंडी और अवसरवादी : मोदी

  • नीतीश पाखंडी और अवसरवादी : मोदी
You Are HereNational
Monday, October 28, 2013-7:43 AM

पटना: गुजरात के मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री पद के लिए भाजपा प्रत्याशी नरेन्द्र मोदी ने रैली स्थल गांधी मैदान के आसपास हुए बम धमाकों से विचलित हुए बिना अपने घोर विरोधी नीतीश कुमार पर तीखा प्रहार करते हुए उन्हें पाखंडी से लेकर अवसरवादी और पीठ में छुरा घोंपने वाला करार दिया। मोदी ने कहा कि नीतीश ने प्रधानमंत्री बनने का सपना पूरा करने के लिए जयप्रकाश नारायण और राम मनोहर लोहिया के सिद्धांतों का साथ छोड़ दिया।

भाजपा के साथ गठबंधन तोडऩे के लिए नीतीश को बार-बार निशाना बनाते हुए मोदी ने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री कांग्रेस के साथ आंख मिचौली खेल रहे हैं जिसके साथ उनके गुरु जयप्रकाश नारायण और लोहिया जीवन भर संघर्ष करते रहे। लोगों से खचाखच भरे गांधी मैदान में हुंकार रैली को सम्बोधित करते हुए मोदी ने कहा कि जिसने जयप्रकाश नारायण को छोड़ दिया हो वह भाजपा को क्यों नहीं छोड़ सकता। जे.पी. और लोहिया ने जीवन भर देश को कांग्रेस मुक्त बनाने के लिए संघर्ष किया और नीतीश खुद को लोहिया का अनुयायी होने का दावा करते हैं मगर उन्होंने पीठ में छुरा घोंपा है। मोदी ने कहा कि कांग्रेस वंशवाद को छोड़ दे तो वह राहुल गांधी को शहजादा कहना छोड़ देंगे।

मोदी ने लालू प्रसाद यादव की प्रशंसा करते हुए कहा कि यदुवंशी भगवान श्री कृष्ण के वंशज थे और वह द्वारिका में जाकर बसे थे। यदुवंशियों से मेरा नाता है और यदि आपको कुछ होता है तो हमें भी तकलीफ होती है। उन्होंने कहा कि देश की जनता को वंशवाद बुरा लगता है लेकिन कांग्रेस को इसकी ङ्क्षचता नहीं। मोदी ने गरीबी को सभी जाति और धर्म का दुश्मन बताते हुए उसके खिलाफ एकजुट होकर लड़ाई लडऩे का आह्वान किया और आरोप लगाया कि कांग्रेस देश में साम्प्रदायिकता की राजनीति करती है जबकि भाजपा विकास में विश्वास करती है। 

मोदी ने खुलकर मुस्लिम कार्ड खेला और कहा कि गुजरात का मुसलमान अमीर है, बिहार का मुसलमान गरीब है। वहीं पटना के जिस गांधी मैदान में आज नरेंद्र मोदी ने  भीड़ को संबोधित किया वह ऐतिहासिक स्थल पहले भी कई जाने-माने लोगों की सभाओं का साक्षी रहा है जिनमें जयप्रकाश नारायण और सुभाष चंद्र बोस से लेकर पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना तक हैं।

हिपोक्रिसी की भी सीमा होती है

पी.एम. की एक बैठक में एक टेबल पर नीतीश कुमार और खुद के एक साथ होने की एक बात का जिक्र कर मोदी ने कहा कि हिपोक्रिसी की भी एक सीमा होती है। बिहार में जंगलराज के बाद भाजपा-जद (यू) गठबंधन की जीत पर उन्होंने कहा कि दोगुनी विधायक संख्या होने के बावजूद नीतीश कुमार को सी.एम. बनाया।

लालू यादव पर किया कटाक्ष मोदी ने बिहार की तीसरी पार्टी राजद के प्रमुख लालू प्रसाद यादव पर भी टिप्पणी करते हुए अर्से की कसर पूरी की। मोदी ने कहा कि लालू जी कहते हैं कि मोदी को पी.एम. नहीं बनने  देंगे  लेकिन  पिछले दिनों जब वह दुर्घटना में घायल हुए तो सबसे पहले हाल जानने के लिए उन्होंने फोन किया। मीडिया को उन्होंने तो नहीं बताया लेकिन लालू ने जरूर गुणगान कर दिया।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You