दीवाली गिफ्ट में मिला शीला को प्याज

  • दीवाली गिफ्ट में मिला शीला को प्याज
You Are HereNational
Tuesday, October 29, 2013-1:25 PM

नई दिल्ली : राजधानी में प्याज पॉलिटिक्स नेताओं की जुबां से निकलकर उनके घरों तक पहुंचने लगा है। प्याज की बढ़ती कीमतों के लिए अब तक एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति करने वाले नेताओं ने अब एक-दूसरे को प्याज खिलाने की राजनीति भी शुरू कर दी है। इसकी शुरूआत भाजपा के वरिष्ठ नेता विजय जौली ने की।

उन्होंने मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के घर जाकर दिवाली गिफ्ट के रूप में 20 किलो प्याज की टोकरी भेंट की। जौली ने कहा कि कुछ दिनों पहले मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा था कि उन्होंने एक सप्ताह से प्याज नहीं खाई है। इस कारण उन्होंने मुख्यमंत्री को दीवाली के शुभ अवसर पर उपहार स्वरूप प्याज की टोकरी देने का निर्णय लिया। इसे 100 रुपए प्रतिकिलो की दर से खरीदा गया था।

जौली ने दिल्ली सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि राजधानी में प्याज की नियमित आपूॢत सुनिश्चित नहीं हो पाने के कारण प्याज की कीमतें आसमान छू रही हैं। आज दिल्ली के नागरिकों की आखों में प्याज के आंसू हैं। दिल्ली सरकार प्याज की अपूॢत स्तर पर पूर्ण रूप से विफल रही है। प्याज के प्रबंधन व बढ़ी हुई कीमतों को नियंत्रण करने में क्यों फेल साबित हुई है। ऐसा लगता है कि दिल्ली सरकार का खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग मानों अस्तित्व में ही नहीं है। दूसरी ओर गरीबों के लिए उपलब्ध राशन काले बाजार में खुलेआम बिक रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्याज की बढ़ी हुई कीमतों से रसोई बजट असंतुलित हो गया है तथा मध्यम वर्गीय व गरीब सबसे ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं।

मुख्यमंत्री के इस मुद्दे पर हालिया ब्यान ने प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह द्वारा बढ़ी हुई कीमतों व मुद्रास्फीति को नियंत्रित करने के झूठे वादों की पोल खोल कर रख दी है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने मूल्य वृद्धि की समस्या को दिल्ली ही नहीं देश भर में फैले होने का दावा किया था। मुख्यमंत्री के इस ब्यान को जौली ने केन्द्र की कांग्रेस सरकार का मजाक उड़ाने वाला बयान करार दिया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You