छह राज्यों के चुनावों में खर्च में कांग्रेस अव्वल

  • छह राज्यों के चुनावों में खर्च में कांग्रेस अव्वल
You Are HereNational
Tuesday, October 29, 2013-2:20 PM

नई दिल्ली,(सतेन्द्र त्रिपाठी): चुनाव में खर्च करने में कांग्रेस सबसे आगे है। भाजपा का कुछ खर्च नहीं करना अपने आप में एक पहेली है। राष्ट्रवादी कांग्रेस इकलौती ऐसी पार्टी है जिसने चुनाव आयोग को खर्च का कोई ब्यौरा देना ही उचित नहीं समझा। चुनावी चंदा नकदी में लेने में कांग्रेस व बसपा का कोई सानी नहीं है। यह सब साबित कर रहे वर्ष 2008 में हुए छह राज्यों के विधानसभा चुनाव के आंकड़े। इनमें दिल्ली भी शामिल थी।

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्म(एडीआर) ने चुनाव के आंकड़ों के जरिए ये जानकारी जुटाई है। इसके मुताबिक राजनीतिक दलों ने मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, मिजोरम, दिल्ली व जम्मू-कश्मीर में हुए चुनावों में 136.88 करोड़ रुपये खर्च किए थे। इसमें सबसे अधिक कांग्रेस ने 102.56 करोड़ रुपये खर्च किए थे। इसमें पब्लिसिटी में 41.38 करोड़, ट्रेवल में 22.99, नेताओं की यात्रा में 7.58  का खर्च हुआ है। नेशनल कॉन्फ्रेंस इकलौती रिजनल पार्टी थी, जिसने खर्च का ब्यौर दिया। उसने जम्मू-कश्मीर चुनाव में 1.36 करोड़ रुपये खर्च किए।

राजनैतिक दलों को चुनाव के 75 दिन के अंदर चुनाव आयोग को खर्च का ब्यौरा देना होता है। इसमें आय-व्यय दोनों दिखाया जाता है। पार्टियों ने कुल 182.12 करोड़ रुपये चंदा जमा किया। कांग्रेस ने 81.92 करोड़ का चंदा पाया, जिसमें से 93.43 प्रतिशत नकदी थी। उसी तरह से भाजपा ने 14.44 करोड़ रुपये का चंदा एकत्र किया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You