Subscribe Now!

विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने बदला रोड मैप

  • विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने बदला रोड मैप
You Are HereNational
Tuesday, October 29, 2013-2:47 PM

नई दिल्ली : डॉ. हर्षवर्धन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बनते ही दिल्ली विधानसभा चुनव के मुद्दे भी बदलने लगे हैं। यहां के हर मुद्दों पर न सिर्फ तेजी से मंथन शुरू कर दिया गया है, बल्कि प्रदेश अध्यक्ष विजय गोयल के मुद्दों को भी किनारा किया जा रहा है।

कल तक लोगों के जो मुद्दे भाजपा को बड़े लग रहे थे, आज उन्हीं मुद्दों का जिक्र तक नहीं किया जाता है। सबसे बड़ी बात तो यह है कि गोयल के बिजली आंदोलन व जवाबदेही आयोग की मांग समेत तमाम मद्दों को या तो नया नाम दे दिया गया है, या फिर उसकी जगह नया मुद्दा शामिल कर दिया गया है।बीते 8 महीनों से प्रदेश अध्यक्ष विजय गोयल ने बिजली आंदोलन की एक लहर चला रखी थी। गोयल ने भाजपा के सत्ता में आने पर बिजली दरों में 30 प्रतिशत कमी करने की घोषणा भी की थी।

इसे लेकर गोयल की गंभीरता का अंदाजा इसी लगाया जा सकता है कि रामलीला मैदान में उन्होंने अलग से बिजली आंदोलन भी किया था। वहीं मंत्रियों व अधिकारियों द्वारा किए जा रहे कथित भ्रष्टाचार को नियंत्रित तथा निगरानी करने के लिए एक जवाबदेही आयोग बनाने की मांग भी उपराज्यपाल से की थी। लेकिन डॉ. हर्षवर्धन के मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनते ही बिजली आंदोलन हाशिए पर चला गया और उसकी जगह महंगाई का मुद्दा प्रमुख हो गया।

वहीं भ्रष्टाचार के मुद्दे पर जवाबदेही आयोग बनाने की बात पर डॉ. हर्षवर्धन का कहना है कि हमारी कोशिश भ्रष्टाचार पर ही लगाम लगाने की है, ताकि जवाबदेही आयोग बनाने की नौबत न आए।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You