नीतीश ने की नरेंद्र मोदी की तुलना हिटलर से, बोले- कथावाचक जैसा होगा हाल

  • नीतीश ने की नरेंद्र मोदी की तुलना हिटलर से, बोले- कथावाचक जैसा होगा हाल
You Are HereNational
Tuesday, October 29, 2013-9:34 PM

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्रमोदी पर तीखा हमला करते हुये आज कहा कि उनकी भाषा लोकतंत्र की नहीं  बल्कि फासीवादी है। कुमार ने राजगीर में पार्टी के दो दिवसीय ङ्क्षचतन शिविर के दौरानकार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार को उतावलापन दिखाने की बजाए धैर्यवान रहना चाहिये। उन्होंने कहा कि मोदी के आदर्श हिटलर है इसलिए उनके बयानों में हिटलर जैसी भाषा होती है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में सभी को पता चल जायेगा कि फासीवाद की भाषा बोलने वाले को जनता नकारती है या नही।  मुख्यमंत्री ने (भाजपा) से करीब 17 वर्ष पुराने गठबंधन टूटने के लिए भाजपा को ही जिम्मेवार ठहराया। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपना हित साधने के लिए ही गठबंधन को तोड़ा। उन्होंने भाजपा पर गैर कांग्रेसवाद को कमजोर करने का आरोप लगाया। मोदी को अहंकारी और झूठे किस्से गढऩे वाला बताते हुए नीतीश कहा कि उनका हाल वही होगा जो आसाराम बापू का हुआ।

नीतीश ने मोदी को आड़े हाथों लेते हुए कहा पीएम पद के उम्मीदवार का इतना उतावलापन ठीक नहीं है। उन्होंने कहा "राजनीति में लड़ाई होती रहती है। वे (भाजपा) बारे में कल क्या कहते थे और आज कहते हैं, सब रिकॉर्ड में है। हम इस चक्कर में नहीं पड़ते। कल मुझ में गुण नजर आते थे, आज दोष नजर आते हैं।

नीतीश ने मोदी का नाम बिना लिए कहा, "धमाकों की खबर मिलते ही मैंने मुंगेर जाने का कार्यक्रम रद्द कर दिया और टेलीविजन के सामने बैठ गया, ताकि पल-पल की जानकारी मिलती रहे। उस वक्‍त भाषण चल रहा था, मैं भी सुनने बैठ गया।" नीतीश ने कहा, "मैं साधारण हूं, कोई मेरे बारे में कुछ भी बोल सकता है। रैली में क्या-क्या नहीं कहा गया। मैं भी भाषण सुनने लगा। उन्होंने कहा इतिहास का अद्भुत ज्ञान है उन्हें। चंद्रगुप्त, गुप्त वंश के हो गए, जबकि वह मौर्य वंश के थे। मुझे अचरज हो रहा था।"  मोदी के ज्ञान पर आश्चर्य हुआ उन्होंने गलत इतिहास बताया है।  मोदी ने अपनी रैली में झूठी कहानी सुनाई है। 

बिहार के मुख्यमंत्री ने कहा, "पानी पी पीकर मुझे कोसा गया। कितनी बार पसीना पोंछा गया? क्या हुआ, जो इतना पसीना आ रहा था? जो पीएम बनना चाहता है, उसे धैर्यवान होना चाहिए। उसमें उतावलापन नहीं दिखना चाहिए। विरोधियों की आलोचना की जानी चाहिए।"

नीतीश पटना सीरियल ब्लास्ट पर कहा मैंने अपना दायित्व पूरी तरह से निभाया है हमारे पास हमले की कोई खुफिया जानकारी नहीं थी। पटाना सीरियल ब्लास्ट में बिहार पुलिस ने एक संदिग्ध को पकड़ा है। मैं आतंकी घटना की निंदा करता हूं।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You