अब हर संपत्ति का होगा यूनीक नम्बर, मिलेगी पासबुक

  • अब हर संपत्ति का होगा यूनीक नम्बर, मिलेगी पासबुक
You Are HereNational
Tuesday, October 29, 2013-3:48 PM

नई दिल्ली : जल्द ही आपको संपत्ति कर की सालों पुरानी रसीदों से छुटकारा मिलने वाला है। संपत्ति कर जमा करवाने के बाद भी संपत्ति कर का नोटिस आने की परेशानी अब लोगों को नहीं झेलनी पड़ेगी। पूर्वी दिल्ली नगर निगम जल्द ही सभी संपत्तियों को यूनिक आई.डी. कोड देकर एक पास बुक जारी करने जा रहा है जिससे लोगों को पुराना रिकार्ड रखने में आसानी होगी, साथ ही उन्हें नगर निगम की ओर से फर्जी नोटिस भेजकर परेशान भी नहीं किया जा सकेगा।

पूर्वी दिल्ली नगर निगम के अधिकारियों को पिछले कुछ समय से लोगों की शिकायतें मिल रही थीं कि उन्होंने संपत्ति कर जमा कर दिया है, लेकिन उन्हें फिर भी नोटिस आ रहा है। कई ऐसे मामले भी सामने आ रहे थे जिनमें 2 संपत्तियों का पता एक जैसा होने के कारण लोगों को संपत्ति कर जमा करने के बावजूद भी निगम की ओर से नोटिस मिल रहे थे। इन मामलों को लेकर निगम की स्थायी समिति और सदन की बैठक में हंगामा हो चुका है।

दिल्ली नगर निगम की क्या है योजना :
पूर्वी दिल्ली नगर निगम की योजना के अनुसार सभी संपत्तियों का सर्वे किया गया है। सर्वे के आधार पर हर संपत्ति को एक विशेष कोड नंबर दिया जाएगा जिससे प्रत्येक संपत्ति  की अपनी अलग पहचान हो सके। हर संपत्ति मालिक को बैंक की तर्ज पर पास बुक भी दी जाएगी। जिससे पुरानी रसीदों को संभाल कर रखने की टैंशन से लोगों को मुक्ति मिलेगी।

पूर्वी दिल्ली नगर निगम स्थायी समिति के अध्यक्ष संजय सुर्जन ने बताया कि जल्द ही निगम की योजना शुरू कर दी जाएगी। जिससे पूर्वी दिल्ली के लोगों को संपत्ति कर जमा कराने में आने वाली कई प्रकार की परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि यूनीक आईडी से अधिकारियों का भ्रम भी दूर हो सकेगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You