'पटना सीरियल ब्लास्ट में छात्रों से रखवाए गए थे बम'

  • 'पटना सीरियल ब्लास्ट में छात्रों से रखवाए गए थे बम'
You Are HereNational
Wednesday, October 30, 2013-2:07 PM

पटना: पटना के गांधी मैदान में हुए सीरियल ब्लास्ट की जांच में सनसनीखेज तथ्य सामने आए हैं। पटना स्टेशन के पास से गिरफ्तार किए गए संदिग्ध आतंकवादी इम्तियाज और मोतिहारी से पकड़े गए ताबीज से पूछताछ में पता चला है कि धमाकों के मास्टरमाइंड तहसीन अख्तर के कहने पर बमों को गांधी मैदान में रखने का काम लॉज में रहकर पढ़ाई करने वाले कुछ छात्रों ने किया था।

इन छात्रों के दस-दस हजार रुपये देकर ये काम करवाए गए। बाकी आरोपियों को पकडऩे के लिए जांच एजेंसियों की टीमें बिहार के जहानाबाद और उत्तर प्रदेश के मऊ में छापेमारी कर रही है। इम्तियाज और तहसीन अपनी टीम के साथ रांची से 18 बम लेकर पटना पहुंचे थे।

एनआईए और एनएसजी की पूछताछ में इम्तियाज ने कबूल किया है कि गांधी मैदान में बम ब्लास्ट से पहले वह तहसीन के साथ कई बार पटना आया था। दोनों पीरबहोर थाना क्षेत्र में स्थित लॉज में ठहरते थे। दोनों ने लॉज में रहने वाले अल्पसंख्यकों को कौम से जुड़ी सीडी और विडियो दिखाकर इंडियन मुजाहिदीन से जोडऩे का प्रयास किया।

छात्रों को रुपयों का लालच भी दिया। इसी दौरान आठ छात्र आईएम से जुड़ गए। फिलहाल, गांधी मैदान में बम रखने वाले छात्रों के नाम गोपनीय रखे गए हैं। इम्तियाज ने आठों छात्रों को पीठ पर टांगे जाने वाले कंप्यूटर बैग के साथ मीठापुर बस स्टैंड बुलाया था। वहां पहुंचने पर छात्रों के बैग में एक-एक टाइमर बम डाल दिया गया। उन्हें मौके पर दस-दस हजार रुपये दिए गए। इसके बाद उन्हें बमों को सक्रिय करने की विधि बताई गई।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You