आरुषि हत्याकांड: तलवार दंपति ने हथियारों पर उठाए सवाल

  • आरुषि हत्याकांड: तलवार दंपति ने हथियारों पर उठाए सवाल
You Are HereNational
Wednesday, October 30, 2013-2:06 PM

गाजियाबाद: आरुषि-हेमराज दोहरे हत्याकांड में बचाव पक्ष ने मंगलवार सीबीआई की इस थ्योरी को खारिज कर दिया कि राजेश तलवार ने दोनों को कथित रूप से अपने घर पर आपत्तिजनक अवस्था में देखने के बाद उन पर गोल्फ स्टिक से जानलेवा हमला कर दिया था।

राजेश और नूपुर तलवार के वकील ने अदालत को बताया कि 30 अक्तूबर, 2009 तक गोल्फ क्लब को हत्या के हथियार के तौर पर नहीं माना जा रहा था लेकिन बाद में इसे ऐसा घोषित कर दिया गया।

बेटी आरुषि और घरेलू सेवक हेमराज की हत्या के लिए मुकदमे का सामना कर रहे तलवार दंपति के वकील तनवीर अहमद मीर ने दलील दी, ‘‘इसके अलावा आरुषि और हेमराज की पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी नहीं सुझाती कि दोनों पर गोल्फ क्लब से हमला किया गया था।’’

मीर ने कहा कि सीएफएसएल के विशेषज्ञ डॉ एम एस दहिया ने गवाही के दौरान कहा था कि उन्होंने मौजूदा मामले से पहले कभी गोल्फ क्लब नहीं देखा था लेकिन तब भी उन्होंने दावा किया कि हमला उसी से किया गया।

मीर ने कहा कि तलवार ने 30 अक्तूबर, 2009 को सीबीआई निरीक्षक रिछपाल सिंह को 12 गोल्फ क्लब और बैग दे दिया था। बचाव पक्ष के वकील ने कहा, ‘‘गोल्फ क्लब के एक सेट को कपड़े से बांध दिया गया था ताकि उनके सिर और हैंडल खुले रहें। यह सीबीआई की ओर से गोल्फ क्लब को सही से नहीं संभालना दर्शाता है।’’  मामले में बचाव पक्ष की दलीलें 30 अक्तूबर तक चलेंगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You