हर्षवर्धन पर हमला तेज,कांग्रेस के निशाने पर सी.एम. इन वेटिंग

  • हर्षवर्धन पर हमला तेज,कांग्रेस के निशाने पर सी.एम. इन वेटिंग
You Are HereNational
Wednesday, October 30, 2013-12:14 PM

नई दिल्ली : कांग्रेस ने भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार डॉ. हर्षवर्धन पर हमला तेज कर दिया है। पार्टी ने उनकी काबिलियत पर सवाल उठाते हुए उन्हें फ्लॉप सरकार का फ्लॉप मंत्री करार दिया है। दिल्ली सरकार के 3 वरिष्ठ मंत्रियों ने मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार को निशाने पर लेते हुए कहा कि डॉ. हर्षवर्धन का स्वास्थ्य मंत्री के रूप में रिकॉर्ड बेहद निराशाजनक रहा है। ऐसे में उन्हें मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाना कई सवाल खड़े कर रहा है।
 
दिल्ली के शहरी विकास मंत्री अरविंदर सिंह लवली, खाद्य एवं आपूॢत मंत्री हारुन यूसुफ तथा लोक निर्माण मंत्री राजकुमार चौहान ने कहा कि भाजपा सरकार में पांच वर्ष तक स्वास्थ्य मंत्री रहे डॉ. हर्षवर्धन कामकाज के नजरिए से बुरी तरह फ्लॉप मंत्री साबित हुए थे। शहरी विकास मंत्री ने कहा कि उनके कार्यकाल में जहरीली ड्रॉप्सी तेल से 60 लोगों की मौत हुई और डेंगू के 10 हजार मामले सामने आए जिसमें 400 से अधिक लोगों को अपनी जिंदगी से हाथ धोना पड़ा।

उन्होंने कहा कि वह 1993 से 1998 तक दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री रहे, लेकिन राजधानी को एक भी नया अस्पताल नसीब नहीं हुआ। 1993 से पहले दिल्ली में 18 अस्पताल थे तथा 1998 में उनके शासनकाल तक 18 ही अस्पताल रहे। भाजपा ने सरकार में रहते हुए एक भी अस्पताल नहीं बनवाया। वहीं उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस ने 15 साल के कार्यकाल में 21 नए अस्पताल बनाए तथा अस्पतालों की संख्या अब बढ़कर 39 हो गई है। इनमें से 5 सुपर स्पैशिलिस्ट अस्पताल भी हैं।

भाजपा के शासन में 10वीं का रिजल्ट 38 फीसदी :
कांग्रेसी मंत्रियों ने डॉ. हर्षवर्धन के बहाने तत्कालीन भाजपा सरकार को भी हर मोर्चे पर विफल करार दिया। शहरी विकास मंत्री ने कहा कि भाजपा के शासन में सी.बी.एस.ई. की 10वीं कक्षा का परिणाम महज 38 प्रतिशत था जो दिल्ली का सबसे कम प्रतिशत है। उन्होंने भाजपा को आइना दिखाते हुए कहा कि कांग्रेस के शासन में 10वीं का रिजल्ट 97 प्रतिशत रहा है तथा भाजपा शासन में सबसे ज्यादा ड्रॉपआऊट रेट था। उन्होंने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि 5 साल के शासन में 3 मुख्यमंत्री बदले गए थे।

आर.एस.एस. के कंट्रोल में भाजपा: लवली
भाजपा को निशाने पर लेते हुए शहरी विकास मंत्री ने कहा कि भाजपा को नेता चुनने का भी अधिकार नहीं है। उन पर आर.एस.एस. नेता थोपता है। ऐसा ही प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करते हुए किया गया। उन्होंने कहा कि भाजपा इस समय पूरी तरह आर.एस.एस. के नियंत्रण में है। यही नहीं दिल्ली के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री हारुन यूसुफ  ने कहा कि कहा कि हर्षवर्धन के स्वास्थ्य मंत्री नहीं रहने के बाद भी दिल्ली सरकार पल्स पोलियो कार्यक्रम चलाती रही है।

ढोल पीटना भाजपा की पुरानी आदत: चौहान
लोक निर्माण मंत्री राजकुमार चौहान ने कहा कि भाजपा को अपने काम का ढोल पीटने की पुरानी आदत है। प्रो. विजय कुमार मल्होत्रा ने 1967 से 71 के दौरान शादीपुर डिपो पर एक फ्लाई ओवर बनाया था जिसकी वह आज तक चर्चा करते हैं। चौहान नेे कहा कि हमने दिल्ली को फ्लाईओवर की नगरी बना दिया, लेकिन कभी ङ्क्षढढोरा नहीं पीटा। मंत्रियों ने कहा कि डॉ. हर्षवर्धन का भी वही हश्र होगा जो उत्तराखंड में खंडूरी का हुआ था।

होर्डिंग से राष्ट्रीय नेता गायब:
प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता जितेन्द्र कोचर ने कहा कि भाजपा के होर्डिंग देखकर हैरानी होती है। इसमें भाजपा ने अपने सभी राष्ट्रीय नेताओं और विजय गोयल को बाहर निकाल दिया है। कोचर ने कहा कि उनके होर्डिंग में न तो प्रकाशक का नाम है, न प्रिंटर का नाम है और न ही किसी का फोन नम्बर है और न ही उनकी तादाद बताई गई है। उन्होंने इसकी शिकायत चुनाव आयोग से की है। कोचर ने इसके लिए मोदी और हर्षवर्धन के खिलाफ  एफ.आई.आर. दर्ज किए जाने की मांग की।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You