मोदी की तारीफ कर आफत मोल ले ली जदयू नेता ने

  • मोदी की तारीफ कर आफत मोल ले ली जदयू नेता ने
You Are HereNational
Wednesday, October 30, 2013-12:52 PM

राजगीर: जदयू के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने आज यहां पार्टी के एक सम्मेलन में गुजरात के मुख्यमंत्री और भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की बार बार तारीफ कर आफत मोल ले ली। मोदी की तारीफ में कसीदे काढऩे के बाद तिवारी जदयू कार्यकर्ताओं का कोपभाजन बने और इसका ठीकरा उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सर पर फोड़ा।

राज्यसभा में जदयू के नेता शिवानंद तिवारी ने नालंदा जिले में पार्टी के दो दिवसीय सम्मेलन में कहा ‘‘एक साधारण से परिवार में जन्म, चाय बेचने की पृष्ठभूमि वाले व्यक्ति के लिए इस मुकाम पर पहुंचना बड़ी उपलब्धि है।’’ तिवारी ने कहा ‘‘उस व्यक्ति के खिलाफ लडऩे के लिए उसके बारे में जानना महत्वपूर्ण है। वह एक दिग्गज हैं और उनसे डरने का कारण है।’’उन्होंने यह भी कहा कि देश के सामने एक चुनौती है जिससे मजबूती के साथ मुकाबला करने की जरूरत है।

जदयू नेता ने कहा ‘‘पहले आरएसएस अटल बिहारी वाजपेयी का उसी तरह समर्थन करता था जैसे नरेंद्र मोदी का कर रहा है। लेकिन वाजपेयी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद संघ से दूरी बना ली जबकि यह सज्जन मौका मिलने के बहुत पहले से ही संघ के इशारे पर काम कर रहे हैं।’’ 

तिवारी द्वारा बार बार मोदी का जिक्र करने से पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं ने उठ कर विरोध जताया। इस पर तिवारी नाराज हो गए।
उन्होंने जदयू अध्यक्ष शरद यादव और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की ओर मुड़ कर कहा ‘‘मेरे खिलाफ पार्टी कार्यकर्ताओं को क्यों प्रोत्साहित किया जा रहा है?’’

मुख्यमंत्री की ओर कटाक्ष करते हुए उन्होंने सवाल किया कि पार्टी में उन्हें अपमानित क्यों किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कुमार को शीर्ष पद :प्रधानमंंत्री के: पर आने के लिए बड़े दिल की जरूरत है और चापलूसी करने वालों को संरक्षण देने के बजाय उनके पास सक्षम लोगों की एक टीम होनी चाहिए। तिवारी ने कहा ‘‘मैं राज्यसभा में जदयू का नेता हूं लेकिन किसी और व्यक्ति को मुझे सूचित किये बिना पार्टी की ओर से संसदीय समिति का सदस्य बना दिया गया।’’ उन्होंने कहा ‘‘मेरी बढ़ती लोकप्रियता से आपको डर क्यों है। ’’ 


नीतीश कुमार को ‘तुम’ कह कर संबोधित करते तिवारी ने उन्हें याद दिलाया कि वह दोनों पुराने मित्र हैं। उन्होंने कहा ‘‘तुम्हारा कद उठेगा तो अच्छा लगेगा।’’उन्होंने कुछ पार्टी कार्यकर्ताओं की तालियों के बीच कहा ‘‘शीर्ष पद :प्रधानमंत्री: हासिल करने के लिए आपको बड़े दिल की जरूरत है। चापलूसों को संरक्षण देने के बजाय आपको योग्य लोगों की टीम की जरूरत है।’’ तिवारी ने कहा ‘‘कुछ चापलूस लोग आपको कह रहे हैं कि वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में राज्य में जदयू 40 सीटें जीतेगा, लेकिन कुछ निर्वाचन क्षेत्रों में तो हमारे प्रत्याशी ही नहीं हैं।’’

उन्होंने नीतीश कुमार से कहा ‘‘मैंने हमेशा ही खरी बात की है और 70 साल की इस उम्र में पुरानी आदतें जाना मुश्किल होगा.... आप अच्छी तरह जानते हैं।’’ अपना भाषण पूरा करने के बाद तिवारी ने कुमार और शरद यादव की ओर देखा तक नहीं तथा मंच पर अपनी सीट की ओर चले गए। बहरहाल, बाद में मुख्यमंत्री उनके पास गए और हाथ मिलाया। तिवारी राजद छोड़ कर जदयू में आए थे और नीतीश कुमार ने उन्हें राज्यसभा सदस्य बनाया था।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You