धमाके के मास्टरमाईंड तहसीन से जदयू नेता ने कोई सरोकार होने से इंकार किया

  • धमाके के मास्टरमाईंड तहसीन से जदयू नेता ने कोई सरोकार होने से इंकार किया
You Are HereNational
Thursday, October 31, 2013-9:31 AM

समस्तीपुर: पटना में सिलसिलेवार धमाके के बाद इसके मुख्य साजिशकर्ता मो0 तहसीन अख्तर उर्फ मोनू के चाचा और जदयू नेता तकी अख्तर ने उससे किसी प्रकार का सरोकार होने से इंकार किया है। समस्तीपुर के जदयू जिला महासचिव तकी अख्तर ने संवाददाताओं से कहा कि वर्ष 2011 में मनियारी गांव स्थित पैतृक संपत्ति के बंटने के बाद से तहसीन और उसके परिवार से उनका कोई नाता नहीं रहा।

कल्याणपुर थाना में तकी ने एक शिकायत भी दर्ज करायी है जिसमें उन्होंने कहा है कि तहसीन के घर छोड़ देने के बाद से उससे उनका कोई नाता नहीं रहा है। तकी ने कहा कि अगर तहसीन आतंकवादी है तो सरकार को उसे कडी से कड़ी सजा देनी चाहिए।

बिहार के पूर्वी चंपारण जिला के रक्सौल से हाल ही में गिरफ्तार किए गए इंडियन मुजाहिदीन के सह संस्थापक यासीन भटकल की गिरफ्तारी के बाद तहसीन को को उक्त संगठन का दूसरा महत्वपूर्ण व्यक्ति माना जाता है तथा पटना में हुए सिलसिलेवार धमाका मामले के अनुसंधान तहसीन के उसके मुख्य साजिशकर्ता होने की ओर इशारा कर रहे हैं।

गत 27 अक्तूबर को भाजपा की हुंकार रैली को पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के संबोधित किए जाने के पूर्व पटना रेलवे स्टेशन और गांधी मैदान में हुए सात सिलसिलेवार धमाकों में छह लोगों की मौत हो गई थी जबकि 83 अन्य घायल हो गए थे।

ग्रामीणों ने बताया कि तहसीन के दादा मो. जहरुल हक सेवानिवृत्त पुलिस निरीक्षक हैं और उसके पिता वसीम अख्तर अपने भाईयों में सबसे बडे हैं जबकि तहसीन उनके तीन पुत्रों में सबसे बड़ा है। किसानी का कार्य करने वाले वसीम अख्तर के दो छोटे भाई वर्तमान में अभी स्कूल में पढ रहे हैं। फरार तहसीन ने अपने गांव मनियारी स्थित हाई स्कूल से मैट्रिक किया था और वह इंजीनियरिंग परीक्षा की तैयारी के लिए दरभंगा गया था जहां वह यासीन भटकल के संपर्क में आया तथा इंडियन मुजाहिदीन का सक्रिय सदस्य बना।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You