घोटालों से हुई दिल्ली शर्मसार : हर्षवर्धन

  • घोटालों से हुई दिल्ली शर्मसार : हर्षवर्धन
You Are HereNcr
Thursday, October 31, 2013-11:28 AM

 नई दिल्ली (अशोक शर्मा ):  विधानसभा चुनाव में भाजपा मुख्यमंत्री पद के प्रत्याशी डॉ. हर्षवर्धन का आरोप है कि दिल्ली सरकार ने विकास की आड़ में घोटाले कर दिल्ली को शर्मसार किया है। सच्चाई तो यह है कि जब दिल्ली में भाजपा की सरकार थी, उस समय कई अस्पताल बनाने  के लिए आधारशिला रखी गई थी। गत 15 साल के शासन में कांग्रेस सरकार ने अस्पतालों को चालू करना तो दूर, उनके भवन बनाने के लिए एक ईंट तक नहीं रखी। 

डॉ. हर्षवर्धन ने नवोदय टाइम्स के साथ एक खास बातचीत में बताया कि जब दिल्ली में भाजपा सत्ता में थी, उस समय डॉ. मुरली मनोहर जोशी ने जे.एन.यू. विश्वविद्यालय में बी.सी. राय अस्पताल बनाने के लिए भवन की आधारशिला रखी थी। इसी तरह से द्वारका में भी एक अस्पताल के लिए भवन का निर्माण करना था, लेकिन दुख के साथ कहना पड़ता है कि दिल्ली की कांग्रेस सरकार ने 15 साल के शासन के दौरान अस्पतालों का निर्माण करना तो दूर, उन्हें बनाने के लिए एक ईंट तक नहीं लगाई। इसीलिए भाजपा के लिए चुनाव में सबसे बड़ी चुनौती दिल्ली में कांग्रेस के शासन को उखाड़ फैंकना है। दुख की बात है दिल्ली सरकार के सीनियर सैकेंड्री स्कूलों में आज भी बच्चे टाट-पट्टियों या जमीन पर बैठकर पढ़ाई कर रहे हैं। दिल्ली सरकार के लिए यह शर्म की बात है।  हैरानी की बात है कि दिल्ली के अस्पतालों में आज भी एक  बैड पर 3-3 मरीज लेटे रहते हैं।

पार्टी में असंतुष्ट कार्यकर्ताओं के स्वर मुखर होने के सम्बंध में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि चुनाव के दौरान सभी पार्टियों में ऐसा होता है। उम्मीदवारों के नाम घोषित किए जाने के बाद उन्हें मना लिया जाता है। एक विधानसभा क्षेत्र से एक ही व्यक्ति को उम्मीदवार बनाया जा सकता है।  उन्होंने कहा कि दिल्ली, स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में दिल्ली काफी पिछड़ी हुई है जिस तरह इजरायल और अमेरिका में आम जनता का स्वास्थ्य बीमा किया जाता है, विधानसभा चुनाव जीतने के बाद भाजपा भी वैसी ही व्यवस्था करेगी।

सरकारी एजेंसियां हों मजबूत

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि  भाजपा लोकपाल बिल के विरोध में नहीं है, पार्टी इससे सहमत है, लेकिन मेरा ऐसा मानना है कि सरकारी एजैंसियों को मजबूत किया जाना चाहिए। जैसे सीबीआई, सतकर्ता विभाग, भ्रष्टाचार निरोधक शाखा। 

कालोनियों में विकास नहीं

राजधानी की अनधिकृत कालोनियों के बारे मे चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि इन कालोनियों में रहने वाले लाखों लोग नारकीय जीवन जीने पर विवश हैं। चुनाव आने पर सरकार सभी कालोनियों को नियमित करने का झुनझुना थमा देती है, लेकिन बाद में विकास के नाम पर कुछ नहीं करती। यही वजह है कि इन कालोनियों में रहने वाले लाखों लोग नारकीय जीवन जीने पर मजबूर हैं। 

घपले ही घपले 

जब से दिल्ली में बिजली और पानी का निजीकरण हुआ है, तभी बिजली और पानी की कीमतें लगातार बढ़ाई जा रही हैं। जनता खुद कह रही है कि सरकार ने निजीकरण के नाम पर भारी घपला किया है। घरों में हर महीने बेतरतीब बिल आने से आम जनता में जबरदस्त रोष व्याप्त है। 

महिलाओं में दहशत 

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि आज दिल्ली में बहन-बेटी सुरक्षित नहीं हैं। हर कोई रात के समय अकेले घर से बाहर निकलने से डरता है। निर्भया कांड के बाद दिल्ली सरकार ने घोषणा की थी कि अब सभी बसों में महिलाओं की सुरक्षा के लिए होमगार्ड कर्मी तैनात होंगे। 

Edited by:Jeta

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You