नेट की कॉपियों का होगा इवैल्यूएशन

  • नेट की कॉपियों का होगा इवैल्यूएशन
You Are HereNational
Thursday, October 31, 2013-2:33 PM

नई दिल्ली: यूजीसी नेट के जून-2013 के ईवैल्यूएशन में धांधली का आरोप लगा रहे छात्रों को यूजीसी ने राहत दे दी है। पहले जिन कैंडिडेट को यूजीसी ने अयोग्य करार दिया था उनकी कॉपियों को फिर से चेक करने का फैसला लिया है। यूजीसी ने पहले उन सभी कैंडिडेट की कॉपियों की जांच नहीं की थी जिसने अपने सवाल के जवाब में व्हाइटनर जैसे पदार्थ का इस्तेमाल कर फिर से उत्तर दिया था।

छात्रों का तर्क था कि इससे पहले यूजीसी ऐसे मामलों में छात्रों की कॉपियों का मूल्यांकन करता था। इसको लेकर जेएनयू छात्रसंघ ने इसी हफ्ते यूजीसी के दफ्तर के पास प्रदर्शन भी किया था।

जेएनयू छात्रसंघ के अलावा कई अन्य छात्र संघठन के सदस्य गुरुवार को भी यूजीसी के दफ्तर के पास प्रदर्शन करने वाले थे। लेकिन अब उनका प्रदर्शन टल गया है। यूजीसी के एक सेक्रेटरी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि यह फैसला सिर्फ जून-2013 में भाग लेने वाले कैंडिडेट के लिए है। इसके बाद होने वाले नेट में व्हाइटनर के प्रयोग पर कैंडिडेट की कॉपियों का मूल्यांकन नहीं किया जाएगा।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You