बिहार और झारखंड में प्राथमिक स्कूलों में सबसे अधिक दिन पढ़ाई

  • बिहार और झारखंड में प्राथमिक स्कूलों में सबसे अधिक दिन पढ़ाई
You Are HereNational
Thursday, October 31, 2013-3:55 PM

नई दिल्ली: देश के 60 प्रतिशत राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में प्राथमिक शिक्षा के स्तर पर स्कूलों में साल में 201 से 220 दिन पढ़ाई का प्रावधान है। लेकिन बिहार और झारखंड में प्राथमिक स्कूलों में 253 कार्यकारी दिवस निर्धारित है जबकि नगालैंड एवं मणिपुर में सबसे कम 180 दिन। ‘‘दस वर्षीय स्कूली पाठ्यक्रम पर राष्ट्रीय अध्ययन रिपोर्ट’’ के अनुसार, सामाजिक, सांस्कृतिक एवं भौगोलिक परिस्थितियों के कारण ही बिहार और झारखंड में साल में प्राथमिक स्कूलों के कार्यकारी दिवस देश में सबसे अधिक है।

रिपोर्ट के अनुसार, ‘‘ प्राथमिक स्कूली स्तर पर केवल 14 राज्यों में त्रिभाषा फार्मूला लागू किया गया है और अधिकांश राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में इस फार्मूले पर सही अर्थो में अमल नहीं किया गया है।’’  मानव संसाधन मंत्रालय की ओर से जारी इस रिपोर्ट में कहा गया है कि असम में प्राथमिक शिक्षा के स्तर पर स्कूलों में पढ़ाई की अवधि ढाई घंटे निर्धारित है जबकि देश के अधिकांश राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में यह साढे पांच से साढे छह घंटे है।

अरूणाचल प्रदेश, गोवा, महाराष्ट्र, नगालैंड और पश्चिम बंगाल में एक कक्षा की अवधि 35 मिनट है जबकि आंध्रप्रदेश, बिहार, केरल, दिल्ली, मणिपुर, पुडुचेरी, त्रिपुरा, झारखंड, जम्मू कश्मीर, पंजाब और तमिलनाडु में 45 मिनट है। प्राथमिक शिक्षा के स्तर पर पांच राज्यों में विज्ञान को ‘सामान्य विज्ञान’ के रूप में संबोधित किया जाता है जबकि 23 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में इसे ‘पर्यावरण अध्ययन’ के रूप में जाना जाता है।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You