हर्षवर्धन के सामने डगमगाया कुमार का विश्वास

  • हर्षवर्धन के सामने डगमगाया कुमार का विश्वास
You Are HereNcr
Friday, November 01, 2013-11:03 AM

 नई दिल्ली :  हर्षवर्धन के सामने कुमार विश्वास का विश्वास डगमगा गया है। चुनावी मैदान में आम आदमी पार्टी के कुमार विश्वास ने भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार हर्षवर्धन के सामने 2-2 हाथ करने से मना कर दिया। विश्वास का आत्म विश्वास इस कदर डगमगाया कि उन्होंने अब चुनाव लडऩे से ही मना कर दिया है। 

हांलाकि भाजपा की ओर से हर्षवर्धन को मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित होने पर आप पार्टी ने दावा था कि उनके सामने कुमार विश्वास को उतारा जाएगा। ‘आम आदमी पाटी’ ने दावा किया था कि भारतीय जनता पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार हर्षवर्धन के खिलाफ बड़ा और मजबूत उम्मीदवार उतारा जाएगा, लेकिन पार्टी को ऐसा उम्मीदवार नहीं मिल रहा है। 

कुमार विश्वास ने चुनाव लडऩे से मना कर दिया है जिसके बाद से आप की मुश्किलें बढ़ गई हैं। गौरतलब है कि भाजपा द्वारा हर्षवर्धन को अपना सी.एम. उम्मीदवार बनाए जाने पर आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कटाक्ष करते हुए उन्हें  ‘भाजपा का मनमोहन सिंह’ बताया था, लेकिन अब वो उनसे ही डरने लगी है। केजरीवाल कुमार विश्वास को हर्षवर्धन के खिलाफ कृष्णानगर इलाके से चुनाव के लिए खड़ा करना चाहते थे, लेकिन अब कुमार विश्वास ने राग बदल दिया और कहा कि वह चुनाव नहीं लड़ेंगे। बी.जे.पी. के सी.एम. उम्मीदवार के खिलाफ चुनाव लडऩे से इंकार करते हुए कुमार विश्वास ने कहा कि मेरे अंदर उतना समर्पण नहीं हैं, जितना अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसौदिया के अंदर है, इसलिए मैं यह सब नहीं कर पाऊंगा। 

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह का कहना है कि कुमार विश्वास ने पार्टी को अपनी राय बता दी है जिसके बाद पार्टी की इच्छा है कि कुमार विश्वास पार्टी के लिए प्रचार का काम करते रहें जिससे अब यह भी तय हो गया कि विश्वास चुनाव नहीं लड़ेंगे। 

केजरीवाल खुद लड़ सकते हैं हर्षवर्धन के खिलाफ

कुमार विश्वास के चुनाव लडऩे से इंकार के बाद अब केजरीवाल खुद हर्षवर्धन के सामने चुनावी मैदान में कूद सकते हैं। अटकलें लगायी जा रही हैं कि हर्षवर्धन की कृष्णा नगर विधानसभा क्षेत्र से कोई प्रभावी उम्मीदवार न मिलने पर केजरीवाल खुद ही इस सीट से चुनाव लडेंगे। बताया जा रहा है केजरीवाल हर्षवर्धन के सामने कोई भारी उम्मीदवार लड़ाना चाहते थे, जिस वजह से यहां से घोषित हुए उम्मीदवार सुशील चौहान से भी टिकट वापस ले लिया था। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You