भूखा व्यक्ति वाले प्रदेश के मुख्यमंत्री को नींद नहीं आनी चाहिए: रमन

  • भूखा व्यक्ति वाले प्रदेश के मुख्यमंत्री को नींद नहीं आनी चाहिए: रमन
You Are HereNational
Friday, November 01, 2013-11:48 AM

रायपुर/सुकमा/दंतेवाड़ा: छत्तीसगढ़ के मुखिया डॉ. रमन सिंह ने गुरुवार को धुर नक्सल प्रभावित सुकमा के छिंदगढ़ और दंतेवाड़ा के कुआकोंडा में चुनावी सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिस प्रदेश का एक भी व्यक्ति भूखा हो वहां के मुख्यमंत्री को नींद नहीं आनी चाहिए। पिछली कुछ सभाओं में केंद्र सरकार को लगातार कोसने वाले डॉ. सिंह ने आज अपने दो पंचवर्षीय कार्यकाल के विकास कार्यों का बखान करते हुए जीत की हैट्रिक के लिए आशीर्वाद मांगा।

 

सबसे पहले छिंदगढ़ की सभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का छत्तीसगढ़ भूख और पलायन से पूरी तरह मुक्त हो गया है। प्रदेश के किसी भी व्यक्ति को अब अपने पेट की चिंता नहीं करनी पड़ती क्योंकि हमने भरपेट भोजन के अधिकार को कानूनी स्वरूप दे दिया है। हमने गरीबों की भूख और पलायन की पीड़ा को महसूस किया और 42 लाख परिवारों को खाद्य सुरक्षा दी। उन्होंने कहा कि हमारा सोचना है कि जिस प्रदेश में एक भी व्यक्ति भूखा रहे, वहां के मुख्यमंत्री को नींद नहीं आना चाहिए।

 

मुझे भी नींद नहीं आती थी। मैंने प्रदेश को भूख की पीड़ा से मुक्त करने के लिए खाद्यान्न सुरक्षा योजना पर अमल किया। इसे देश में सबसे पहले कानूनी रूप भी दे दिया। पहले भूख की चिंता में बड़े पैमाने पर लोग पलायन के लिए मजबूर थे। अब अपने घर में व्यवस्था है। इसलिए प्रदेश पलायन मुक्त हो गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बस्तर में मेडिकल कालेज की स्थापना के साथ ही बस्तर अंचल चिकित्सा सुविधाओं के क्षेत्र में लम्बी छलांग लगा रहा है।

 

बस्तर की परिस्थितियों तथा जरूरतों के मद्देनजर विकास की योजनाएं स्थानीय स्तर पर बनाई जा सकें, इसके लिए बस्तर विकास प्राधिकरण गठित किया गया। इस प्राधिकरण में स्थानीय जनप्रतिनिधियों और लोगों की भागीदारी सुनिश्चित की गई है। ताकि वे अपनी आवश्यकताओं के अनुरूप विकास कार्य करा सकें।


विकास में बस्तर तेजी से बढ़ा
इसके बाद उनका उडनख़टोला दंतेवाड़ा के कुआकोंडा में उतरा जहां मुख्यमंत्री डॉ. रमन ने कहा कि बस्तर के लोग स्वयं अनुभव कर रहे हैं कि 60 साल तक उपेक्षित रहे बस्तर का वातावरण दस साल में पूरी तरह से बदल चुका है। अब यहां सिर्फ विकास दिखाई देता है। लोगों की आंखों में भाजपा की सरकार के प्रति विश्वास दिखाई देता है। मैंने विकास यात्रा के दौरान दंतेवाड़ा से लेकर पूरे बस्तर और सरगुजा तक लोगों की आंखों में विश्वास देखा है। विकास के क्षेत्र में बस्तर तेजी से आगे बढ़ा है जिससे बेहतर भविष्य की नई उम्मीदें जागी हैं।

 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने दस वर्षों के दौरान बस्तर अंचल में किए गए विकास का उल्लेख करते हुए कहा कि सरकार विश्वास से बनती है। हमने जनता का विश्वास अर्जित किया है। उल्लेखनीय है कि बस्तर में पहले चरण में ही 12 विधानसभाओं के लिए मतदान होना है और मुख्यमंत्री एकमात्र स्टार प्रचारक के रूप में हर इलाके में पहुंचकर भाजपा को जिताने की अपील कर रहे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You