बस्तर में सुरक्षा बलों की 300 कंपनियां तैनात

  • बस्तर में सुरक्षा बलों की 300 कंपनियां तैनात
You Are HereNational
Friday, November 01, 2013-1:43 PM

जगदलपुर: विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बस्तर में केंद्रीय बलों की 300 कंपनियां तैनाती की गई हैं। सुरक्षा बल आरओ (रोड ओपनिंग), एरिया डॉमिनेशन तथा मतदान केंद्र की घेरेबंदी कर तीन स्तर पर सुरक्षा करेंगे। संभाग के संवेदनशील जिलों में हजारों जवान मोर्चा संभाल चुके हैं। बस्तर जिले में 50 कंपनियों की तैनाती की गई है। वहीं बीजापुर, सुकमा, नारायणपुर, कांकेर, कोंडागांव व दंतेवाड़ा में 250 कंपनियों की तैनाती की गई है। इनमें राज्य सशस्त्र बल समेत बीएसएफ, सीआरपीएफ, एसएसबी के जवान शामिल हैं।

 

जानकारों के अनुसार, झीरम में हुए सबसे बड़े राजनीतिक हमले से सबक लेते निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जंगली व छापामार लड़ाई में दक्ष तथा चुनाव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था का अनुभव रखने वाले जवानों को यहां भेजा गया है। मतदान दलों के रवाना होने के दौरान रोड ओपनिंग, एरिया डॉमिनेशन एवं मतदान केंद्र की सुरक्षा की जिम्मेदारी बलों पर होगी। तलाशी के दौरान प्रत्येक थाना बलों से केंद्रीय बलों के साथ जवान तैनात किए जा रहे हैं।

 

प्रत्येक थाना क्षेत्र की गतिविधियों की जानकारी हर आधे घंटे में वरिष्ठ अधिकारी को भेजी जाएगी। केंद्रीय बलों व जिला बल के बीच बेहतर तालमेल बनाने के लिए डीआईजी सीआरपीएफ नोडल अफसर बनाए गए हैं। केंद्रीय बलों के जवानों के लिए नियमित प्रशिक्षण कक्षाएं चलाई जा रही हैं।

 

आईजी अरुण देव गौतम, डीआईजी सीआरपीएफ के. के. सिन्हा, एसपी अजय यादव, सीओ 80 बटालियन पीके गर्ब्याल,एएसपी एस.आर. सलाम, उप कमांडेंट अश्विन झा के द्वारा जवानों को नक्सलियों से मुकाबले के टिप्स दिए जा रहे हैं। इसके साथ ही उन्हें इलाकों की भौगोलिक जानकारी प्रदान की जा रही है। क्षेत्रीय बोलियों के बारे में भी बताया जा रहा है। जवानों को प्रोजेक्टर के माध्यम से नक्सल हमलों के पारंपरिक तरीकों से अवगत कराया जा रहा है।

 

चुनाव के दौरान किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति के दौरान विशेष कार्यबल को आरक्षित रखा गया है। संभाग के मतदान केंद्र में किसी वारदात की स्थिति में फौरन त्वरित बल मोर्चा संभालने को तैयार रहेगी। निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार चुनाव के दौरान बल के रवाना होने के लिए वायुसेना की एमआई श्रेणी के छह अत्याधुनिक हेलीकाप्टर भी तैयार रखे गए हैं। इनमें से तीन हेलीकाप्टर चौबीसों घंटे आसमान से निगरानी कर रहे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You