लखनऊ में धीमी आवाज वाले पटाखों की मांग

  • लखनऊ में धीमी आवाज वाले पटाखों की मांग
You Are HereUttar Pradesh
Friday, November 01, 2013-3:06 PM

लखनऊ: दीवाली पर पटाखों से होने वाले शोर-शराबे और प्रदूषण के मद्देनजर नवाबों की नगरी लखनऊ में इस साल कम धुआं फैलाने और कम शोर वाले वाले पटाखों को लोग ज्यादा पसंद कर रहे हैं। लखनऊ के चौक, ऐशबाग, अमीनाबाद, अलीगंज, इंदिरानगर, महानगर, आलमबाग जैसे प्रमुख बाजारों में इस साल ज्यादा धुएं और ज्यादा शोर वाले पटाखों की बजाय रंगीन आतिशबाजी वाले पटाखों की ज्यादा मांग है।

ऐशबाग स्थित पटाखों के दुकानदार रवि अग्रवाल कहते हैं कि इस साल प्रदूषण और लोगों की सेहत को ध्यान में रखते हुए दुकानदार कम शोर और कम धुएं वाले पटाखे लेकर आए हैं। ये पटाखे दूसरे पटाखों की तुलना में कम प्रदूषण फैलाते हैं। अमीनाबाद के पटाखा दुकानदार अभिषेक गुप्ता बताते हैं कि लोग अब ज्यादा धमाके और शोर वाले पटाखे कम खरीदना चाहते हैं। इसकी जगह लोग हवा में ऊपर जाकर अलग-अलग रंग बिखेरने वाले पटाखों को ज्यादा महत्व दे रहे हैं।

ये पटाखे विभिन्न किस्मों में उपलब्ध हैं और इनकी कीमत दस रुपये से शुरू होकर पांच सौ रुपये तक तक है। दीवाली पर इस तरह के पटाखे बेचने वाले दुकानदार इनकी कीमत में छूट दे रहे हैं। गुप्ता कहते हैं, ‘‘ये पटाखे सेहत और पर्यावरण दोनों के लिए कम नुकसानदायक हैं। इसालिए हम लोग इनकी बिक्री को बढ़ावा देने पर बल दे रहे हैं।’’

दुकानदारों की इस पहल का लोग भी समर्थन कर कम शोर और प्रदूषण करने वाले पटाखों को खरीद रहे हैं। इंदिरानगर निवासी हर्षित शुक्ला कहते हैं, ‘‘वैसे तो प्रदूषण अमूमन हर पटाखे से होता है लेकिन कम शोर और कम धुएं वाले पटाखे प्रयोग किए जाएं तो इससे कुछ राहत मिलेगी।’’

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You