अब तक का सबसे बड़ा कत्लेआम!

  • अब तक का सबसे बड़ा कत्लेआम!
You Are HereUttar Pradesh
Saturday, November 02, 2013-10:23 AM

गंगोह: 3 गौ-हत्यारों को आजन्म कारावास की सजा मिलने के बावजूद गौ-हत्यारों के हौसले बुलन्दी पर हैं। उनमें पुलिस प्रशासन का कोई खौफ नहीं है। यही कारण है कि गौ-हत्यारों ने अब तक के सबसे बड़े कारनामे को अंजाम देते हुए तीतरों रोड स्थित मोहल्ला कुरेशियान स्थित वनी में ईदगाह के समीप गौहत्यारों ने 53 गायों को काट डाला। समय रहते मौके पर पहुंची पुलिस गौवंश को जिन्दा तो न बचा सकी। अलबत्ता गौ-हत्यारों को उनके नापाक इरादों में कामयाब होने से रोक दिया। इस सिलसिले में आधा दर्जन गौ-हत्यारों को नामजद करते हुए 25 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। कोतवाली पुलिस ने बीती रात बड़े पैमाने पर गौवंश कटान की सूचना पर मोहल्ला कुरैशियान स्थित वनी में दबिश देकर बड़ी संख्या में गौवंश कटान को रंगे हाथों पकड़ा।

पुलिस को आता देख गौ-हत्यारे मौके से भाग खड़े हुए। पुलिस ने रात मे ही मौके पर जे.सी.बी. मशीन मंगवाकर कटे गौ-वंश के अवशेषों को मिट्टी में दफन कराया। कोतवाली प्रभारी रतनपाल सिंह के नेतृत्व में नगर इंचार्ज अरविन्द कुमार नैन व अमर सिंह ने उक्त घटना को अंजाम दिया। सूचना पाकर सी.ओ. गंगोह हरि प्रकाश कसाना भी मौके पर पहुंचे। उक्त घटना से एक बार फिर साबित हो गया है कि गंगोह गौवंश कटान की कितनी बड़ी मंडी बनता जा रहा है। इसके अलावा गांव बुड्ढाखेड़ा से पुलिस ने एक वाहन में लादकर ले जाए जा रहे आधा दर्जन गौवंश को जिन्दा बचाने में कामयाबी हासिल की। पुलिस 4 गायों व 2 बैलों को कोतवाली ले आई। गौवंश कटान की उक्त वारदात को लेकर हिन्दुवादी संगठनों में रोष व्याप्त है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You