दिवाली के जोश में भी हर्षवर्धन से पीछे नजर आए विजय गोयल

  • दिवाली के जोश में भी हर्षवर्धन से पीछे नजर आए विजय गोयल
You Are HereNcr
Saturday, November 02, 2013-11:42 AM

नई दिल्ली: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विजय पर मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार डॉ. हर्षवर्धन हर मुकाबले में आगे निकलते जा रहे हैं। गोयल शुरू से खुद को मुख्यमंत्री पद की रेस में मानते रहे, लेकिन अचानक हर्षवर्धन मारी मार ले गए। इसके बाद समर्थकों भीड़ दो खेमे में बंटने लगी तो गोयल चुनाव के नजदीक आते समय के साथ अकेले पड़ते जा रहे हैं और अब दीवाली के उपहारों के मामले में भी हर्षवर्धन ने गोयल को पछाड़ दिया है। 

चलन के मुताबिक  बीते तीन दिनों से दोनों की नेताओं के घर पर उपहार देने वालों का तांता लगा रहा, लेकिन असल भीड़ धनतेरस के दिन देखने को मिली। टिकट की दौर में शामिल दावेदारों से लेकर चेहरा दिखाने वाले तक इन दोनों नेताओं के घर हाजिरी लगाते रहे, लेकिन डॉ. हर्षवर्धन के घर रौनक व भीड़ गोयल के घर की तुलना में काफी ज्यादा थी। यहां जाने-पहचाने 

चेहरों से लेकर नए-नए चेहरे भी पहुंचते रहे। पूछने पर इनका कहना था कि जिस तरह से हर्षवर्धन अचानक इतने मजबूत होकर उभरे, वैसे में हम इस बात से इंकार नहीं कर सकते कि विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत होगी। ऐसे में उनसे दूरी बनाकर रखना अपने राजनीतिक जीवन को धीरे करने जैसा होगा, इसलिए हम अभी से ही डॉ. हर्षवर्धन के साथ जुड़ रहे हैं ताकि उनके मुख्यमंत्री बनने के बाद हमारे ऊपर कृपा बनी रहे।

दूसरी ओर गोयल के घर सुबह व शाम के वक्त को छोड़ दोपहर में करीब सन्नाटा ही पसर गया था। यहां गिनती के समर्थक आ रहे थे और थोड़ी देर रुकने के बाद वहां से निकलने की कोशिश में लगे रहते थे। शाम के वक्त यहां समर्थकों की थोड़ी भीड़ जरूर दिखी, लेकिन उनकी तादाद उतनी नहीं थी, जितनी कि प्रदेश अध्यक्ष के घर पर होनी चाहिए थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You