‘आंतकवादी था मेरा भाई, नहीं ले जाऊंगा उसका शव’

  • ‘आंतकवादी था मेरा भाई, नहीं ले जाऊंगा उसका शव’
You Are HereNational
Saturday, November 02, 2013-4:15 PM

पटना: पटना बम धमाके में शामिल आतंकवादी एनुल उर्फ तारिक की गुरुवार देर रात मौत हो गई थी। लेकिन अब तक उसे दो गज जमीन नसीब नहीं हुई है। जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि तारिक के भाई ने यह कहते हुए शव लेने से इंकार कर दिया कि मेरा भाई आतंकवादी था हम उसका शव नहीं ले जायेंगे। तारिक के भाई ने बातचीत के दौरान कहा कि पटना से लाश को लेने के लिए जो पत्र आई है, वह उसका भी जवाब नहीं देंगे।

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी की 27 अक्टूबर को गांधी मैदान में हुंकार रैली से पूर्व पटना जंक्शन परिसर स्थित शौचालय में हुए बम विस्फोट में एनुल घायल हो गया था जबकि उसी दौरान उसके एक साथी इम्तियाज को गिरफ्तार कर लिया गया था। इसके बाद रैली के दौरान गांधी मैदान में सिलसिलेवार छह धमाके हुए थे। जिसमें छह लोगों की मौत हो गयी थी जबकि 83 अन्य घायल हो गये थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You