कांग्रेस ने किया ओपिनियन पोल की रोक का समर्थन, भाजपा ने साधा कांग्रेस पर निशाना

  • कांग्रेस ने किया ओपिनियन पोल की रोक का समर्थन, भाजपा ने साधा कांग्रेस पर निशाना
You Are HereNational
Monday, November 04, 2013-12:25 PM

नई दिल्ली: पांच राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनावों के मद्देनजर चुनाव आयोग ने चुनाव से पहले होने वाले सर्वे पर रोक लगाने की बात कही थी जिस पर राजनीतिक पार्टियां ने सियासत करनी शुरू कर दी है। कांग्रेस ने भी चुनाव आयोग के चुनावी सर्वेक्षणों पर रोक के फैसले को सही बताया है तो दूसरी तरफ विपक्षी पार्टियों ने कहा है कि यह सब कांग्रेस की चाल है क्योंकि इन सर्वों के माध्यम  से कांग्रेस की हकीकत सामने आ रही थी जिससे कांग्रेस घबरा गई है और कुछ चुनावी सर्वे में कांग्रेस को खासा नुकसाना भी हो रहा है।

 

कांग्रेसी नेता राशिद अल्वी ने कहा कि निर्वाचन आयोग के चुनावी सर्वेक्षण पर रोक का फैसला सही है क्योंकि इससे लोगों में भ्रम पैदा होता है और लोग गुमराह होते हैं। वहीं भाजपा नेता  मुख्तार अब्बास नकवी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि यह कौन सी धर्मनिरपेक्षता की किताब में लिखा है कि यह गलत है। कांग्रेस संदेश देने वाले को नष्ट कर सकती है, संदेश को नहीं। लेफ्ट पार्टी के डी राजा ने कहा कि पिछले कई सर्वेक्षणों में आए परिणामों से कांग्रेस काफी परेशान है।

 

शिरोमणि अकाली दल के नरेश गुजराल ने कहा है कि जब सभी सर्वे कांग्रेस में पक्ष में आ रहे थे तब यह सही था लेकिन अब लोग कांग्रेस के खिलाफ है तो कांग्रेस अभ इस पर रोक लगाने के पक्ष में है। कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग को पत्र लिखकर चुनावों से पहले ओपिनियन पोल पर रोक लगाने की मांग की है। कांग्रेस का कहना है कि ओपिनियन पोल का इस्तेमाल गलत हो रहा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You