दोस्त के घर में डाला डाका,चार मास्टरमाइंड गिरफ्तार

  • दोस्त के घर में डाला डाका,चार मास्टरमाइंड गिरफ्तार
You Are HereNational
Monday, November 04, 2013-3:19 PM

नई दिल्ली : पूर्वी जिला की आनंद विहार पुलिस ने दिनदहाड़े हुई लूट की वारदात में नाबालिग समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान दिनेश रजत खोसला(24), धीरज(22), गौरव(24), मयूर  सक्सेना(24) और एक नाबालिग को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से लाखों रुपए के सोने के गहने, तीन हीरे आभूषण, 76 सिल्वर के सिक्के, दो खिलौना पिस्टल और वारदात में इस्तेमाल सैंट्रो कार बरामद की है।

 पुलिस अधिकारियों ने बताया कि 30 अक् तूबर की शाम सवा 7 बजे पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना मिली थी कि मकान नंबर ए-78 आनंद विहार में तीन युवकों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया है। सूचना के तुरंत बाद मौके पर पहुंची पुलिस को तुषार उप्पल ने बताया कि घर में वह अपने दोस्त दिनेश के साथ था।

शाम सवा 6 बजे दरवाजे की घंटी बजी थी। दरवाजा जब खोला ता एक युवक ने खुद को एमसीडी का कर्मचारी बताया था। युवक ने बताया कि उनको शिकायत मिली है कि घर में अवैध निर्माण कराया जा रहा है। जब वह युवक के साथ छत पर गया। उसके साथ दो युवक और अंदर आ गए। तीनों ने उसे और दिनेश को पकड़कर हाथ पैर बांध दिए और अलमारियों में रखी सोने और हीरे के गहने आदि निकालकर बाहर खड़ी कार से फरार हो गए।

पुलिस ने मामला दर्ज करके स्थानीय पुलिस स्टेशन और स्पेशल स्टॉफ की टीमों को प्राथमिक जांच पर दिनेश पर शक हुआ। जिसने गहन पूछताछ पर साथियों के  साथ वारदात को अंजाम देने की बात मानी। जिसके बाद उसकी निशानदेही पर उसके चार साथियों को पकड़ा। दिनेश ने पुलिस को बताया कि पिछले हफ्ते ही जीटीबी एंक्लेव इलाके में कैश वैन से 90 लाख रुपए की लूट की वारदात को न्यूज पेपरों में पढऩे के बाद उन्होंने भी ऐसी कोई वारदात करने की योजना बनाई थी। दिनेश ने इसके लिए पहले अपने ही दोस्त के घर में वारदात करने के लिए पहले साथियों के साथ रेकी की थी। दिनेश वारदात का मास्टरमांइड है। उसने एमबीए कर रखी है।

तीन बदमाश पकड़े गए:
मध्य जिला की राजेन्द्र नगर पुलिस ने तीन कुख्यात बदमाशों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान असलम,हेमंत कुमार और जयप्रकाश मीना के रूप में हुई है। आरोपियों की पहचान सोने के गहने और मोबाइल फोन बरामद हुआ है।

पुलिस के मुताबिक 28 अक् तूबर को राजेन्द्र नगर इलाके में रहने वाली लीला नायर ने स्थानीय पुलिस को बताया कि सुबह की सैर पर जाने के वक्त दो युवकों ने उसके पास आकर उसकी चार सोने की चुडिय़ा, एक नाक की बाली और मोबाइल फोन झपटकर फरार हो गए थे। पुलिस ने मामला दर्ज करके एसीपी एस के गिरी और थानाध्यक्ष मनीष जोशी की देखरेख में पुलिस ने कई एंग्लों से छानबीन करते हुए एक पुख्ता सूचना के आधार पर तीनों को अलग अलग जगहों से गिरफ्तार किया। आरोपियों के पकड़े जाने के बाद 13 वारदातों का खुलासा किया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You