Subscribe Now!

चव्हाण ने क्रिकेट की राजनीति में उतरने की संभावना से नहीं किया इंकार

  • चव्हाण ने क्रिकेट की राजनीति में उतरने की संभावना से नहीं किया इंकार
You Are HereNational
Tuesday, November 05, 2013-10:41 AM

नई दिल्ली: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने क्रिकेट की राजनीति में उतरने की संभावना से इंकार नहीं किया। गौरतलब है कि राकांपा प्रमुख शरद पवार हाल में ही मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष निर्वाचित हुए हैं। हाल में ही मझगांव क्रिकेट क्लब का सदस्य बनने के बाद यह पूछे जाने पर कि क्या वह भविष्य में मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन का चुनाव लड़ेंगे तो चव्हाण ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘भविष्य में क्या होगा यह मैं आपसे नहीं कह सकता हूं। मेरी क्रिकेट में दिलचस्पी है।’’

 

चव्हाण का बयान भाजपा नेता गोपीनाथ मुंडे के उस बयान के बीच आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि मुंबई और महाराष्ट्र में स्थिति ऐसी हो गई है कि सिर्फ दो लोग बचे हैं जो महाराष्ट्र में पवार को चुनौती दे सकते हैं। मुंडे ने कहा कि एक वह खुद हैं और दूसरे पृथ्वीराज चव्हाण हैं। मुंडे ने कहा था, ‘‘मैं इस बारे में बेहद स्पष्ट हूं। सिर्फ इस कारण से मैं एमसीए चुनाव में कूदा था क्योंकि शरद पवार के एकाधिकार को चुनौती देने वाला कोई नहीं था। या तो मैं या पृथ्वीराज चव्हाण।

 

इससे पहले विलासराव देशमुख में ऐसा करने का माद्दा था लेकिन अब वह नहीं रहे।’’ सवालों का जवाब देते हुए चव्हाण ने कहा उनके पवार के साथ शानदार संबंध हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस आने वाले लोकसभा चुनाव में राकांपा के साथ गठबंधन चाहती है और हर बार चुनाव से पहले जमीनी हकीकत के आधार पर सीटों के बंटवारे के फार्मूले पर फैसला किया जाता है। चव्हाण का बयान एमपीसीसी प्रमुख माणिकराव ठाकरे के उस बयान के मद्देनजर आया है जिसमें ठाकरे ने कहा कि कांग्रेस महाराष्ट्र में 29 लोकसभा सीटों पर चुनाव लडऩा चाहती है जबकि राकांपा को 19 सीटें देने को तैयार है।

 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने 29:19 के आधार पर सीटों के बंटवारे की मांग के पीछे अपनी पार्टी के सुधरे प्रदर्शन का हवाला दिया। उसने कहा था, ‘‘साल 2009 के चुनावों में कांग्रेस 26 सीटों पर चुनाव लड़ी थी जिसमें से 17 सीटों पर जीत हासिल की थी जबकि राकांपा 22 सीटों पर चुनाव लड़ी थी जबकि सिर्फ आठ सीटों पर जीत हासिल कर सकी थी।

 

इसी तरह, कांग्रेस साल 2009 में विधानसभा की 174 सीटों पर चुनाव लड़ी थी और 82 सीटों पर जीत हासिल की थी जबकि राकांपा 114 सीटों में से सिर्फ 62 पर जीत हासिल कर सकी थी।’’ ठाकरे ने कहा है, ‘‘अगर हम उसी मानदंडों का पालन करते हैं तो साल 2014 के लोकसभा चुनाव में 29 सीटों के हमारे दावे की पुष्टि होती है।’’

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You