सीवर और पानी के मुद्दे पर होगा चुनाव

  • सीवर और पानी के मुद्दे पर होगा चुनाव
You Are HereNcr
Tuesday, November 05, 2013-1:10 PM

नई दिल्ली (सज्जन चौधरी): बाबरपुर विधान सभा के चुनावों में इस बार पीस पार्टी कांग्रेस और भाजपा को कड़ी टक्कर देगी। परिसीमन लागू होने के बाद यहां वोटिंग समीकरणों में मुस्लिमों की संख्या बढ़ गई है। जिसे देखते हुए मौजूदा विधायक नरेश गौड़ के भी होश उड़े हुए हैं। हालांकि विधायक नरेश गौड़ इलाके में अपनी पकड़ मजबूत बता रहे हैं। इलाके में कराये गए विकास कार्यांे के बल पर नरेश गौड़ फिर से चुनावी ताल ठोक रहे हैं। हालांकि इलाके के लोग पानी और सीवर लाइनों को लेकर विधायक के काम से नाखुश हैं। इलाके के लोगों का कहना है कि विधायक जी ने सिर्फ हिंदू इलाकों में विकास का काम कराया है।

साफ पानी को तरसे लोग

बाबरपुर विधान सभा में आने वाली अनधिकृत कालोनियों में रहने वाले लोग साफ पानी को तरस गए हैं। लोगो को पानी के लिए अभी भी दो-दो किलोमीटर दूर जाना पड़ता है। कई कालोनियां ऐसी भी हैं जहां पानी की लाइनें डाली ही नहीं गई हैं। ऐसे में लोगों को गंदे पानी से काम चलाना पड़ रहा है। जिससे लोगों को कई प्रकार की जलजनित बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है। इलाके के लोगों का कहना है कि कई बार विधायक जी से पीने के पानी की शिकायत की गई लेकिन उन्होंने सिर्फ गिने-चुने इलाकों में पानी की व्यवस्था करवाई है।

छोटी सीवर लाइन, आए दिन रहती है जाम

बाबरपुर विधान सभा में सीवर लाइन तो डलवाई गई है लेकिन ये इतनी छोटी हैं कि आए दिन कचरा जमा होने से जाम रहती हैं। जिससे गलियों और सड़कों पर पानी भरा रहता है और उससे गंदगी फैलती है।
लोगों का कहना है कि गिने चुने इलाकों में सीवर की बड़ी लाइन डाली गई हैं, लेकिन ज्यादातर कालोनियों में छोटी लाइनें डाली गई हैं जिस कारण यहां अकसर पानी जमा होने की समस्या से दो-चार होना पड़ता है।

पूरे इलाके में नही बड़ा अस्पताल
बाबरपुर विधान सभा में विधायक जी 15 सालों से कोई बड़ा अस्पताल नहीं खुलवा पाए हैं। लोगों का कहना है कि यहां से सिर्फ छोटी-छोटी नगर निगम की डिस्पेंसरियां हैं, लेकिन अस्पताल के नाम पर लोगों को गुरू तेग बहादुर अस्पताल या किसी प्राइवेट अस्पताल में जाना पड़ता है।

विपक्ष के वार
इलाके में विधायक जी ने कोई विकास कार्य नहीं कराया है। 15 सालों से विधायक होने के बावजूद अभी तक कई कालोनियों को मालिकाना हक नहीं मिल पाया है। पूरे क्षेत्र में कोई बारात घर नहीं है। कर्दमपुरी सरीखी कालोनियों में अभी भी पानी जैसी बुनियादी सुविधाओ का अभाव है।                                                                                                          - फुरकान कुरैशी, पीस पार्टी प्रत्याशी

विधायक का जवाब
इलाके में 11 हजार किलोवाट की हाईटेंशन लाईने हटवाई गई हैं। सीवर ट्रीटमेंट प्लांट चालू कराया गया है। 80 प्रतिशत पानी की लाईनें बदलवाकर नई लाईनें डलवाई गई हैं। 1 करोड़ की लागत से मुसलमानों के लिए 2 कब्रिस्तानों का पुर्ननिर्माण कराया गया है।                                                                                                                                                  -नरेश गौड़, भाजपा विधायक

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You