मोदी ने 'मिशन मंगल' के वैज्ञानिकों को मिशन मार्स के लिए बधाई दी

  • मोदी ने 'मिशन मंगल' के वैज्ञानिकों को मिशन मार्स के लिए बधाई दी
You Are HereNational
Tuesday, November 05, 2013-2:17 PM

नई दिल्ली: भारत में अमेरिका की राजदूत नैन्सी पॉवेल आज श्रीहरिकोटा से मंगल अभियान की शुरूआत को प्रत्यक्ष रूप से देखने के लिए यहां पहुंच गई हैं। यहां पहुंचने के कुछ ही समय बाद वे यहां से लगभग 100 किलोमीटर दूर स्पेसपोर्ट के लिए रवाना हो गईं। भारत का महत्वाकांशी मंगल ऑर्बिटर मिशन (एमओएम) आज दोपहर 2 बजकर &8 मिनट पर शुरू किया जाएगा। इसके लिए सारी तैयारियां की जा चुकी हैं।

वहीं, नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया के जरिए वैज्ञानिकों को मिशन मार्स के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि यह देश के लिए गर्व का क्षण है और हम सभी कामना करते हैं कि यह मिशन सफल हो।

भारतीय अंतरिक्ष संगठन (इसरो) के एक प्रवक्ता ने बताया, प्रक्षेपण के लिए रविवार को शुरू हुई उल्टी गिनती लगातार जारी है। यह काउंटडाउन मंगलवार दोपहर दो बजकर 38 मिनट पर खत्म होगा। इस वक्त पर भारत मंगलग्रह के लिए अपना अंतरिक्ष यान लॉन्च करेगा। चीजें सामान्य हैं। हम तैयारियों के काम में व्यस्त हैं। रॉकेट की लंबाई 44.4 मीटर है और इसे स्पेसपोर्ट के फ‌स्र्ट लॉन्च पैड पर लगाया गया है। यहां 76 मीटर लंबा एक मोबाइल सर्विस टावर लगा है, जो 230 किलोमीटर प्रति घंटा की गति वाली हवा में भी टिका रह सकता है। इस तरह यह चक्रवात की स्थिति से निपटने में सक्षम है। लॉन्च से पहले इसे हटा लिया जाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You