गूगल पर भी चढ़ा ‘‘रमन इफैक्ट’’ का रंग

  • गूगल पर भी चढ़ा ‘‘रमन इफैक्ट’’ का रंग
You Are HereNational
Thursday, November 07, 2013-11:08 AM

नई दिल्ली: प्रकाश के प्रकीर्णन के दौरान उसके नीले रंग को परावर्तित कर देने और शेष सभी अवयवी रंगों के अवशोषित हो कर उर्जा में तब्दील होने के कारण का रहस्य बताने वाले ‘‘रमन इफैक्ट’’ के जन्मदाता सी वी रमन की मेधा का लोहा गूगल ने भी माना और आज 7 नवंबर को उसने अपना डूडल इसी भारतीय भौतिक विज्ञानी तथा गणितज्ञ को समर्पित किया है।

7 नवंबर 1888 को तिरूचिरापल्ली में जन्मे सी वी रमन ने 28 फरवरी 1928 को ‘‘रमन इफैक्ट’’ की खोज की थी। इस महान खोज की स्मृति में ही हर साल 28 फरवरी को देश में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस मनाया जाता है। इसी खोज के लिए रमन को 1930 में भौतिकी का नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया था। रमन भौतिक विज्ञान में नोबेल पुरस्कार पाने वाले पहले एशियाई थे। संगीत में गहरी दिलचस्पी रखने वाले रमन ने वाद्य यंत्रों की ध्वनियों पर भी अनुसंधान किया था और इस बारे में उनका एक लेख जर्मनी के एक विश्वकोष में प्रकाशित हुआ था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You