लूट, तस्करी में कम्प्यूटर इंजीनियर गिरफ्तार

  • लूट, तस्करी में कम्प्यूटर इंजीनियर गिरफ्तार
You Are HereNational
Thursday, November 07, 2013-1:17 PM

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने एक कंप्यूटर इंजीनियर को अवैध शराब की तस्करी व लूटपाट के आरोप में गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी हरियाणा ब्रांड की सस्ती शराब को दिल्ली में अवैध रूप से सप्लाई कर रहा था।

आरोपी तस्करी के दौरान रास्ते में लोगों के साथ लूटपाट की भी वारदातों को अंजाम देता। पुलिस ने आरोपी के पास से वारदात में इस्तेमाल एक टाटा सूमो कार और झपटमारी का एक मोबाइल फोन बरामद किया है। पुलिस आरोपी इंजीनियर विनोद उर्फ भोलू (25) को पहले भी अपहरण व एक्साइज एक्ट के तहत गिरफ्तार कर चुकी है।

अपराध शाखा के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त रविंद्र यादव ने बताया कि पीड़ित कौशिक कुमार ने शिकायत दी कि वह 6 अक्तूबर को कंझावला इलाके में सड़क पर खड़ा था। तभी एक सफेद टाटा सूमो कार में सवार तीन बदमाश उसके पास आए और उससे मोबाइल फोन लूटकर फरार हो गए। इसी तरह 7 अक्तूबर को नागेश्वर दास नाम व्यक्ति ने शिकायत दी कि वह नई दिल्ली रेलवे स्टेशन जाने के लिए कंझावला इलाके में सड़क पर खड़े थे।

 एक टाटा सूमो कार में सवार चार बदमाशों ने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन तक छोडऩे का ऑफर दिया, लेकिन बीच रास्ते उन्हें बंधक बनाकर लूटपाट की और  शाहाबाद डेयरी इलाके में सूनसान जगह फेंककर फरार हो गए। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु की तो पता चला कि दोनों ही वारदातों को एक ही गिरोह ने अंजाम दिया है। ए.सी.पी. के.पी.एस. मल्होत्रा के नेतृत्व में एक टीम ने जांच करते हुए 5 नवंबर को विनोद उर्फ भोलू को दबोच लिया। पुलिस टीम को सूचना मिली थी कि एक गैंग का सरगना विनोद हरियाणा से दिल्ली में अवैध शराब की तस्करी करता है।

वह तस्करी के दौरान ही सड़क पर खड़े लोगों को लिफ्ट देकर लूटपाट भी करता है। पुलिस ने सूचना को पुख्ता कर आरोपी विनोद दबोच लिया। पूछताछ में पता चला कि वह कंप्यूटर इंजीनियर है और अपने तीन-चार साथियों के साथ मिलकर हरियाणा से दिल्ली में शराब की तस्करी करता है। रात के समय वह सड़क किनारे अकेले खड़े लोगों के साथ लिफ्ट देकर लूटपाट की वारदातों को भी अंजाम देता। फिलहाल पुलिस गिरोह के अन्य बदमाशों की तलाश में जुटी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You