जे.एन.यू में बनेगा 550 छात्रों के लिए नया हॉस्टल

  • जे.एन.यू में बनेगा 550 छात्रों के लिए नया हॉस्टल
You Are HereNcr
Thursday, November 07, 2013-2:48 PM

नई दिल्ली (अभिषेक आनंद): जे.एन.यू. में हॉस्टल की कमी का सामना कर रहे छात्रों के लिए एक नए हॉस्टल बनने का रास्ता साफ हो गया है। जे.एन.यू. कैंपस में करीब 550 छात्रों की क्षमता के नए हॉस्टल बनने का काम अगले साल मार्च तक शुरू हो जाएगा।  जे.एन.यू. की बिल्डिंग कमेटी से इसे मंजूरी मिल गई है। कंस्ट्रक्शन करने के लिए आगे की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है।

जे.एन.यू. में इस वक्त करीब 500 छात्रों को अपना हॉस्टल नहीं मिल पा रहा है।  जे.एन.यू. छात्रसंघ के महासचिव संदीप सौरव का कहना है कि काफी छात्रों को सिंगल रूम में सेकंड और थर्ड रूममेट के रूप में जगह दी गई है। हालांकि एक छात्र की क्षमता वाले कमरे में तीन छात्रों के रहने में काफी कठिनाई आती है। छात्रसंघ का यह भी कहना है कि काफी छात्रों को सेंकंड या थर्ड रूममेट के तौर पर भी जगह नहीं मिल रही है। इससे उनकी पढ़ाई प्रभावित होती है।

वी.सी. प्रो. एस.के. सोपोरी ने नवोदय टाइम्स से बातचीत में कहा कि हॉस्टल बनने में करीब 33-34 करोड़ रुपया खर्च होगा। एक सवाल के जवाब में उन्होंने स्वीकार किया किया नया हॉस्टल भी भविष्य में छात्रों की संख्या को देखते हुए काफी नहीं होगा। उन्होंने कहा कि हमने एम.एच.आर.डी. को अधिक बजट के लिए लिखा है। अगर वहां से और फंड मिलता है तभी हम और हॉस्टल बना पाएंगे। प्रो. सोपोरी ने कहा कि कंस्ट्रक्शन शुरू होने के बाद एक साल में हॉस्टल तैयार होने की उम्मीद है। हालांकि इससे इतर जेएनयू में नॉर्थइस्ट एमपी फोरम और यूनिवर्सिटी प्रशासन के सहयोग से 500 छात्रों की क्षमता का एक और हॉस्टल बनाने की प्रक्रिया चल रही है। इसमें 60 फीसदी जगह नॉर्थइस्ट के छात्रों के लिए आरक्षित होगा। प्रो. सोपोरी ने कहा कि इसके लिए हम नॉर्थइस्ट फोरम की ओर से फंड मिलने का इंतजार कर रहे हैं।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You