गुजरात में मीडिया पर अंकुश : तिवारी

  • गुजरात में मीडिया पर अंकुश : तिवारी
You Are HereNational
Saturday, November 09, 2013-3:59 AM

नई दिल्ली : टीवी चैनलों के लिए परामर्श जारी करने पर सरकार की आलोचना करने के लिए नरेंद्र मोदी पर पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने आज उन पर गुजरात में मीडिया की आजादी पर अंकुश लगाने का आरोप लगाया। सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने अपने मंत्रालय के परामर्श का यह कहते हुए बचाव किया कि यह सलाह भर है।

उन्होंने मोदी पर हमला किया कि वह केवल भाषण देते हैं एवं पत्रकारों के सवालों का जवाब नहीं देते। उन्होंने कहा कि मोदी से जब एक साक्षात्कार में गुजरात दंगे पर कठिन सवाल पूछे गए तब वह वहां से उठकर चले गए थे। उन्होंने कहा, ‘‘मैं सोचता हूं कि भाजपा के इस ढोंगी के लिए वस्तुत: आत्मनिरीक्षण करना और स्वयं से यह पूछना उपयुक्त होगा कि वाकई गुजरात में मीडिया की क्या दशा है। ’’

तिवारी ने कहा, ‘‘वह जिस राज्य के मुख्यमंत्री हैं, उस राज्य में मीडिया धौंसबाजी से कितना दूर है। क्या उनका उदारवाद बस मीठा मीठा बोलना एवं कमर हिलाना है या फिर उसे लागू भी किया गया?’’ उन्होंने कहा कि राजग सरकार ने वाजपेयी सरकार को बेनकाब करने पर तहलका मैगजीन के लिए समस्या खड़ कर दी थी। तिवारी ने एडवाइजरी पर कहा, ‘‘हमने सभी को सलाह दी है कि 15 अगस्त या 26 जनवरी जैसे राष्ट्रीय दिवस पर जब राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री भाषण दे रहे हों तो उसे गंभीरता से लिया जाए।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You