CBI पर गौहाटी HC का फैसला: राजा, सज्जन ने सीबीआई जांच पर उठाए सवाल

  • CBI पर गौहाटी HC का फैसला: राजा, सज्जन ने सीबीआई जांच पर उठाए सवाल
You Are HereNational
Saturday, November 09, 2013-4:27 AM

नई दिल्ली: पूर्व दूरसंचार मंत्री ए. राजा और टू जी घोटाले के अन्य आरोपियों ने दिल्ली की एक अदालत में चल रही कार्यवाही को रोकने की मांग की। उन्होंने सीबीआई की स्थापना को गौहाटी उच्च न्यायालय द्वारा ‘‘असंवैधानिक’’ करार देने के फैसले का हवाला देते हुए कार्यवाही स्थगित किए जाने की मांग की।

पटियाला हाउस स्थित स्पेशल जज ओपी सैनी की अदालत में शुक्रवार को टूजी मामले की सुनवाई हुई। इस दौरान आरोपी राजा व अन्य आरोपियों के अधिवक्ताओं ने कहा कि गुवाहाटी हाईकोर्ट ने सीबीआई को असंवैधानिक करार दिया है और टूजी मामले की जांच भी सीबीआई ने ही की है। ऐसे में उन पर लगे आरोपों का कोई औचित्य नहीं। लिहाजा उनके मुकदमे की सुनवाई रोकी जाए।

इससे संबंधित एक अन्य मामले में कांग्रेस नेता सज्जन कुमार ने उच्च न्यायालय के फैसले के आलोक में 1984 के सिख विरोधी दंगे में सीबीआई द्वारा उनके खिलाफ दायर आरोपपत्र और जांच को ‘‘अवैध’’ घोषित करने की मांग की। राजा और शीर्ष कारपोरेट एक्जीक्यूटिव सहित टू जी के अन्य आरोपियों ने कहा कि मामले की सुनवाई जारी रखना अदालत की अवमानना होगी।

राजा के वकील मनु शर्माहे ने सीबीआई के विशेष न्यायाधीश ओ. पी. सैनी से कहा, ‘‘श्रीमान्, मैं आपको यहां फैसला दिखा सकता हूं।’’ सैनी ने उनकी मौखिक याचिका को नकार दिया और मुख्य जांच अधिकारी एवं सीबीआई के एसपी विवेक प्रियदर्शी की गवाही को जारी रखा। (एजेंसी)


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You